सभाओं में खुला रमन का पिटारा, मिली 687 करोड़ के 171 निर्माण कार्यों की सौगात


बिलासपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान तीन जिलों की तीन बड़ी आमसभाओं में जनता को लगभग 687 करोड 79 लाख रूपए के 171 निर्माण कार्यों की सौगात दी। उन्होंने मस्तूरी (जिला-बिलासपुर), ग्राम पामगढ़ (जिला-जांजगीर-चांपा) और जिला मुख्यालय जांजगीर में आयोजित इन आमसभाओं में 178 करोड़ 88 लाख रूपए के पूर्ण हो चुके 69 निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया। डॉ. सिंह ने हाथों इन कार्यक्रमों में 408 करोड़ 78 लाख रूपए के 102 निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास भी सम्पन्न हुआ। मुख्यमंत्री ने जांजगीर चांपा जिले के पामगढ़ की आमसभा में कहा है कि राज्य सरकार ने दस हजार से अधिक जनसंख्या वाली ग्राम पंचायतों को नगर पंचायत का दर्जा देने का निर्णय लिया है। उन्होंने आमसभा में शिवरीनाराण को तहसील और पामगढ को नगर पंचायत का दर्जा देने की घोषणा की। डॉ. सिंह ने बिलासपुर जिले के मस्तूरी की आमसभा में आमसभा स्थल पर स्टेडियम निर्माण की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने बिलासपुर जिले के मस्तूरी की आमसभा में 217 करोड़ 61 लाख रूपए के 64 निर्माण कार्यों का और जांजगीर -चांपा जिले के पामगढ़ की आमसभा में 124.41 करोड के 42 निर्माण कार्यों की सौगात दी। उन्होंने जांजगीर की आमसभा में 245 करोड़ 77 लाख रूपए के 65 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। डॉ. सिंह ने आज की तीनों आमसभाओं में 75 हजार 306 किसानों को 110 करोड़ 24 लाख का धान बोनस ऑनलाइन वितरित किया। उनके हाथों लैपटॉप पर क्लिक होते ही यह राशि किसानों के बैंक खातों में तत्काल जमा हो गई। इनमें से मस्तूरी की आमसभा में 13 हजार 340 किसानों को 17 करोड़ 92 लाख रूपए, पामगढ़ की आमसभा में 25 हजार 947 किसानों को 39 करोड़17 लाख रूपए और जांजगीर की आमसभा में 36 हजार किसानों को 53 करोड़ 15 लाख रूपए का बोनस मिला।

डॉ. रमन सिंह ने तीनों आमसभाओं में 31 हजार 789 परिवारों को आबादी पट्टों का भी वितरण किया। इनमें से मस्तूरी की आसमभा में 16 हजार 829 परिवारों को, पामगढ़ की आमसभा में 5 हजार 04 परिवारों को और जांजगीर की आम सभा में 9 हजार 956 परिवारों को आबादी पट्टे दिए गए। उन्होंने मस्तूरी की आम सभा में वर्ष 2017 के सूखा प्रभावित 13 हजार 193 किसानों को फसल बीमा योजना के तहत 12.12 करोड़ रूपए की धनराशि का वितरण किया। उन्होंने इन आमसभाओं में असंगठित श्रमिकों को श्रम विभाग की योजनाओं में 20 हजार से अधिक श्रमिकों को निःशुल्क सायकल, औजार किट और कन्या विवाह, प्रसूति सहायता के लिए राशि का वितरण किया। इनमें बिलासपुर जिले के मस्तूरी की आम सभा में 3618 श्रमिको को, जांजगीर-चांपा जिले के पामगढ़ में 5750 श्रमिकों को और जांजगीर की आम सभा में 11 हजार 5 सौ श्रमिकों को सामग्री और सहायता राशि के चेक का वितरण किया।

मुख्यमंत्री के हाथों आज जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण हुआ, उनमें मुख्य रूप से मस्तूरी की आमसभा में लोकार्पित जयरामनगर-मस्तूरी-मल्हार-जोंधरा -लवन तक सड़क कार्य भी शामिल है। इस निर्माण कार्य में 137 करोड़ रूपए की लागत आयी है। डॉ. सिंह ने मस्तूरी की आमसभा में 41.75 करोड़ रूपए की लागत वाले जयरानगर रेल्वे ओव्हर ब्रिज और 6 करोड़ 61 लाख रूपए की लागत से निर्मित होने वाले सूक्ष्म सिचाई योजना के अंतर्गत लीलागर एनीकट का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। डॉ. सिंह ने पामगढ़ (कुटराबोड़)की आमसभा में जांजगीर -चांपा जिले के लिए जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें प्रमुख रूप से 4 करोड़ 82 लाख रूपए की लागत से कूटीघाट, शिवरीनारायण, खरौद और पामगढ़ में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भवन भी शामिल है। उन्होंने पामगढ़ की आमसभा में ही 94 करोड़ 32 लाख रूपए की लागत से निर्मित होने वाले पामगढ-भिलौनी-ससहा-सोनसरी-जोंधरा-लाहौद तक सड़क निर्माण का शिलान्यास और भूमि पूजन किया।

डॉ. सिंह ने जांजगीर में 8 करोड़ 40 लाख रूपए की लागत से जिला चिकित्सालय परिसर में निर्मित जी.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र के अलावा दो करोड़ 15 लाख की लागत से निर्मित पेन्ड्र और पुटपुरा में 33/11 विद्युत उपकेन्द्रों का लोकार्पण किया। उन्होंने जांजगीर की आमसभा में 125 करोड़ 84 लाख की लागत से सीपत -बलौदा-उरगा मार्ग, 68 करोड़ 93 लाख रूपए की लागत से बनने वाले जांजगीर-पामगढ़ मार्ग शिलान्यास और भूमि पूजन किया। इसके अलावा उन्होंने जांजगीर में 5 करोड़ की लागत से आडिटोरियम, 2 करोड़ 96 लाख की लागत से दिव्यांग स्कूल भवन और दो करोड़ 72 लाख रूपए की लागत से कन्या महाविद्यालय कन्या छात्रावास भवन का भी शिलान्यास और भूमि पूजन किया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.