नाइजीरियन गैंग : बदनाम करने की धमकी दे वसूले 7 लाख


रायपुर। राजधानी रायपुर की एक महिला से फेसबुक पर दोस्ती कर उसे ही बदनाम करने का हवाला देकर मोटी रकम ऐंठने वाले नाइजीरियन गैंग का भांडाफोड़ राजधानी पुलिस ने किया है। सिविल लाइन थाने में हुई अधेड़ महिला की शिकायत पर पड़ताल करते पुलिस को ये सफलता मिली है। मामलें में पुलिस ने चार नाइजीरियन को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने ठगी के आरोप में गिरोह के मास्टर माइंड कैनिथ उसिटा, चिबुजोर शामूएल, औस्टिन उर्फ एंटी, बोली बिसेल को गिरफ्तार किया है। ठगों के कब्जे से पुलिस ने 10 लैपटॉप, 20 मोबाइल और तीन पासपोर्ट जब्त किया है।

                 मामलें का खुलासा करते हुए रायपुर एसएसपी अमरेश मिश्रा, क्राइम एसपी अजात शत्रु बाहदुर सिंह ने बताया कि एक अधेड़ उम्र की महिला ने सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनसे 13 अप्रेल को वालेंसिया वार्ट नाम के किसी ब्रिटीश नागरिक ने फेसबुक में फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा था। फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करने के बाद उस व्यक्ति ने महिला को अपने झांसे में ले लिया। उस व्यक्ति के झांसे में आकर महिला ने ठग को अपना वाट्सएप नंबर दे दिया। वाट्सएप में कुछ दिनों तक दोनों के बिच चैटिंग होती रही। उसके बाद उस ठग ने महिला को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। इसके बाद ठग ने महिला से उनके वीडियो और फोटो मंगा लिया। उसके बाद ठगों ने फेक आईडी के सीम कार्ड से महिला को कॉल कर बदनाम करने की धमकी देकर रुपए वसूले।

रकम वसूली का नया पैतरा
नाइजीरियन ठग इसके पहले लोगों को डालर देने या गोल्ड देने का झांसा देकर ठगी का शिकार बनाते थे। किसी महिला को प्रेम जाल में फंसाकर नाइजीरियन गिरोह द्वारा ठगी का यह पहला मामला है। पुलिस दिल्ली के तिलक नगर में दस दिन की घेराबंदी के बाद ठगों को पकड़ा है। पुलिस के मुताबिक ठगों से पूछताछ में कई और मामलों का खुलासा हो सकता है। फिलहाल पुलिस ने नाइजीरियन ठगों से पूछताछ के लिए तीन दिनों की न्यायिक रिमांड पर लिया है।