पद्मश्री तीजनबाई को पड़ा दिल का दौरा, डॉक्टर बोले-फिलहाल खतरे से बाहर


भिलाई। छत्तीसगढ़ की पहचान माने जाने वाली पंडवानी गायिका पद्मश्री तीजनबाई को दिल दौरा पड़ा है। आनन-फानन में तीजनबाई को चिकित्सकीय उपचार के लिए भिलाई के सेक्टर-9 अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ उनका इलाज़ ज़ारी है। आईसीयू में भर्ती तीजन बाई के घंटों चले उपचार के ने बताया कि फिलहाल वे खतरे से बाहर है। गौरतलब है कि तीजनबाई पंडवानी लोक गीत-नाट्य की पहली महिला कलाकार हैं। देश-विदेश में अपनी कला का प्रदर्शन करने वाली तीजनबाई को बिलासपुर विश्वविद्यालय द्वारा डी लिट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया है। वे सन 1988 में भारत सरकार द्वारा पद्मश्री और 2003 में कला के क्षेत्र में पद्म भूषण से अलंकृत की गयीं। उन्हें 1995 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार तथा 2007 में नृत्य शिरोमणि से भी सम्मानित किया जा चुका है। तीजनबाई ने देश ही नहीं बल्कि विदेशों में पंडवानी गायन किया है। उन्होंने सांस्कृतिक राजदूत के रूप में इंग्लैंड, फ्रांस, स्विट्ज़रलैंड, जर्मनी, टर्की, माल्टा, साइप्रस, रोमानिया और मारिशस की यात्रा की और वहाँ पर प्रस्तुतियाँ दीं।