छत्तीसगढ़ में बेहतर कनेक्टिविटी की हामी लेकर दिल्ली से लौटे डॉ रमन

डॉ रमन बोले-जल्द बनेगी 1700 किलोमीटर की सड़क, रेलवे स्टेशनों का होगा रेनोवेशन

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह अपने दिल्ली प्रवास से रायपुर पहुंच चुके है। तीन दिन दिल्ली में बिताने के बाद वे प्रदेश में बेहतर कनेक्टिविटी की हामी के साथ लौटे।
दिल्ली से लौटने के बाद माना एयरपोर्ट में मीडिया को उन्होने अपने दिल्ली दौरे के दौरान हुई दिग्गज नेताओं के साथ मुलाकात और चर्चाओं के बारे में जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी मुलाकात केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से हुई है। जिसमे विभिन्न परियोजनाओं पर चर्चा हुई। चर्चा के बाद रेल मंत्री ने रेल मंत्रालय के अधिकारियों को दुर्ग , कटघोरा, मुंगेली, कवर्धा, डोगंरगढ़ रेल लाईन के विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन और सी.सी.ई.ए. की जल्द स्वीकृति देने के निर्देश दिए हैं।

इसके आलावा स्टेशनों के पुनर्विकास और बीकानेर-बिलासपुर ट्रेन को दुर्ग तक बढ़ाने साथ ही विशाखापट्नम-जगदलपुर स्पेशल किराया ट्रेन को सामान्य किराए पर नियमित ट्रेन के रुप में चलाने की भी स्वीकृति प्रदान करने की बात कही है। साथ ही बस्तर को कई रेल योजनाओं से जोड़ने पर भी कई योजनाओं पर विचार किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि गोयल से मुलाकात और चर्चाओं के आलावा मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की है। इस मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने प्रदेश में चल रहे नक्सल मामलों की जानकारी दी साथ राज्य के धुर नक्सल प्रभावित इलाकों में बनने वाली 1700 किलोमीटर की सड़क पर भी स्वीकृति दी है।

अमित शाह से हुई सियासी चर्चाएं
रेल मंत्री पीयूष गोयल और राजनाथ सिंह के आलावा मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने अपने दिल्ली दौरे के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भी मिले। जहाँ उन्होंने पार्टी की तय रणनीति पर हो रहे कामकाज का लेखा जोखा शाह को सौपा है। इसके आलावा शाह और उनके बीच आगामी चुनावी तैयारियों को लेकर भी लम्बी चर्चाओं का दौर चला था। इन सभी के साथ मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के 22 अगस्त के दौरे, बैठक और उसके एजेंडे पर भी चर्चा की है।

 

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.