11 सवालों के साथ मुख्यमंत्री कैंप घेरने पहुंची ऋचा जोगी

राजनांदगांव / रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ -जे की राजनांदगांव विधानसभा प्रभारी ऋचा जोगी के नेतृत्व में और पर्यवेक्षक भगत सोनी की विशेष उपस्थिति में पदाधिकारी कार्यकर्ताओ ने ईमाम चौक में धरना प्रदर्शन कर ” जवाब दो मुख्यमंत्री ” रैली निकाल सवालो के पर्चे बांटते हुवे मुख्यमंत्री केम्प कार्यलय कूच किया। जहाँ जाने से पहले पुलिस प्रशासन द्वारा बल पूर्वक रोक कर 113 कार्यकर्ताओ को गिरफ्तार कर लिया गया।

ऋचा जोगी ने कहा की हमे लोकतंत्र में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह से सवाल पूछने भी पुलीस ने जाने नही दिया। मुख्यमंत्री ने राजनांदगाँव का विकास नहीं,विनाश किया है और क्षेत्र के विनाश में उनका जो अहम योगदान है उसे जन जन को बताने प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री और जनता कांग्रेस के संस्थापक अजीत जोगी ने राजनांदगांव से चुनावी समर में उतरने का निर्णय लिया है आज से करीब पांच महीने पहले 11 फरवरी को अजीत जोगी ने राजनांदगांव आकर मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह से 11 सवाल पूछे थे मगर अब तक एक का भी जवाब नहीं मिला। ऋचा ने कहा कि बात बात में पत्रकारवार्ता व ट्वीटर पर बोलने वाले सीएम डॉ रमन और बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ताओ को क्या सांप सूंघ गया है जो खामोश हैं ? उन्होंने तल्ख़ लहजे में कहा कि हम हाथ पर हाथ धरे नहीं बैठेगे बल्कि राज़नांदगाँव की राजनीति के इन सुलगते सवालों को निरंतर उठाते रहेंगे।

तो क्यों पिछड़ा राजनांदगांव
मुख्यमंत्री निवास घेराव को लेकर विधानसभा प्रभारी ऋचा जोगी ने उन्ही सवालों को पुनः मुख्यमंत्री से पूछा कि छत्तीसगढ़ के 53% बच्चे कुपोषित हैं और सबसे जयादा 33,481 कुपोषित बच्चे राजनांदगांव में हैं, छत्तीसगढ़ में किसान आत्महत्याओं के कुल मामलों में 25%- राजनांदगांव और कवर्धा से हैं ,क्या वजह है कि पूरे प्रदेश में बेरोजगारी में नंबर वन राजनांदगांव जिला है जहां 2 लाख 73 हज़ार बेरोजगारो का पंजीयन रोजगार कार्यालय में है। 2003 के चुनाव के समय केंद्रीय मंत्री रहते BNC मिल को फिर से चालू करने का रमन सिंह का वादा किया क्या हुआ क्या इन सभी सवालों का जवाब राजनादगांव की जनता को नहीं मिलना चाहिए।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.