पांच महीने में ही भरभरा कर गिर पड़ी “स्मार्ट सिटी की कुटिया”


रायपुर। बुधवार की सुबह जब कलेक्ट्रेड में बुज़ुर्गों को तनाव मुक्त करने और उनके मनोरंजन के लिए बनाई गई बापू की कुटिया खोली गई तो नज़ारा कुछ और ही था। महज़ पांच महीने पहले ही बनकर तैयार हुई इस कुटिया की फालसिलिंग भरभराकर गिर चुकी थी। पंखे के ब्लेड मूड कर लटक गए थे। कयास लगाए जा रहे है ये हादसा संभवतः कल देर रात का है। घटना के बाद स्मार्ट सिटी के तहत बनाए जा रहे बापू की कुटिया के घटिया निर्माण की पोल खुल गई है। लोगो में इस हादसे के बाद काफी नाराज़गी है। मौके पर पहुंचे सीनियर सिटीजन का कहना है कि गनीमत ये हादसा तब नहीं हुआ जब यहाँ लोग रहते है। 

गौरतलब है कि जिला प्रशासन ने बुजुर्गों के बीच तनाव दूर करने के लिए बापू की कुटिया का निर्माण किया था। जिसका निर्माण कुछ महीने पहले ही किया गया था। बापू की कुटिया के नाम पर आनन-फानन में निर्माण तो करा दिया गया लेकिन इसमें भी जमकर भ्रष्टाचार की बू आ रही है। मौके पर पहुंचे लोगो का कहना है कि इस निर्माण कार्य पर कितनी राशि का टेंडर था और खर्च कितना हुआ इसकी जांच कराकर जिम्मेदारों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की जानी चाहिए।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.