बैठक के दौरान जब रायपुर कलेक्टर को गिफ्ट में मिली कपड़े की थैली

राग फाउंडेशन और राजश्री की महिलाओ ने बांटे थैले

रायपुर। प्रतिबंधित प्लास्टिक के उपयोग को रोकने चल रहे नो प्लास्टिक अभियान में आज सामाजिक संगठन व नगर निगम व रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने संयुक्त रूप से लोगों को जागरूक किया। कलेक्टर डा भारतीदासन को जिला अधिकारियों की बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी डा. गौरव कुमार सिंह ने कपड़े की थैली भेंट की।इस बैठक में सभी अधिकारियों से कहा गया कि प्रतिबंधित प्लास्टिक के उपयोग को रोकें और बाजारों में जब भी जाएं तो अपने साथ कपड़े से बने थैले लेकर चलें।इसी तरह पर्यावरण के संरक्षण से जुड़े संगठनों के साथ ही कई सामाजिक संगठन स्कूल व कॉलेजों व व्यापारिक संगठन प्लास्टिक का उपयोग न करने के लिए सामने आ रहे हैं।

राग फाउंडेशन व राजश्री महिला समूह ने आनंद नगर के वाधवा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में जाकर स्कूली बच्चों व शिक्षकों से बात की। इस दौरान बच्चों को प्लास्टिक से होने वाले दुष्प्रभाव की विस्तार से जानकारी दी गई। स्कूल के प्राचार्य अरविंद मिश्र ने बताया कि वाधवा स्कूल नो प्लास्टिक जोन घोषित करने तुरंत कदम उठा रहा है। इसके तहत एल्मेनेक के माध्यम से बाजार जाने के पहले कपड़े के थैले अवश्य साथ रखने की समझाइश बच्चों के माध्यम से दी जा रही है। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि प्लास्टिक से बने टिफिन और बोतल जो बच्चों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं, उसके स्थान पर स्टील व अन्य पदार्थों से बने बोतल व टिफिन ही साथ दें।

इस जागरूकता कार्यक्रम में उपस्थित एमआईसी सदस्य अजीत कुकरेजा ने पूरे वार्ड को प्लास्टिक मुक्त करने हेतु सभी से सहयोग की अपील की। इस स्कूल के बच्चों ने आश्वस्त किया कि घर पहुंचकर प्लास्टिक के दुष्प्रभाव से अपने पालकों को अवगत कराएंगे और इसका उपयोग नहीं करने कहेंगे। स्कूल के कार्यक्रम के बाद अधिकारियों का दल राजश्री समूह व राग फाउंडेशन के साथ मिलकर तेलीबांधा के व्यवसायिक परिसर में जाकर लोगों को प्लास्टिक के दुष्प्रभाव के बारे में समझाया।