सड़क पर आवारा मवेशी मामलें में 26 सितंबर को होगी हाईकोर्ट में सुनवाई

नगरीय प्रशासन विभाग ने माँगा निगम और निकायों से ब्यौरा

बिलासपुर। अवारा मवेशियों को एनएच से हटाने के लिए दायर याचिका पर हाईकोर्ट 26 सितंबर को सुनवाई करेगा। कोर्ट ने सडक़ यातायात में बाधा कर रहे मवेशियों को गली-सडक़ और राजमार्गों से हटाने के आदेश दिए थे और इस पर प्रतिवेदन मांगा था। नगरीय प्रशासन विभाग ने सभी आयुक्तों और निकायों के सीएमओ से इस सिलसिले में कार्रवाई विवरण मांगा है। सभी को बुधवार तक रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। ताकि गुरूवार को कोर्ट में प्रस्तुत किया जा सके। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों बिलासपुर और आरंग-सराईपाली राष्ट्रीय राजमार्ग पर मवेशियों द्वारा यातायात को बाधित करने की बात सामने आई है। गाड़िय़ों से कुचलकर अब तक दर्जनों मवेशियों की मौत अलावा कई मुसाफिर जख्मी होकर जान भी गवां चुके हैं।

                         ज्ञात हो कि इसके पहले याचिका की सुनवाई के दौरान कोर्ट के निर्देश परनगरीय प्रशासन विभाग ने सभी निकायों को पत्र लिखकर सडक़ यातायात में बाधा उत्पन्न कर रहे मवेशियों को गली, सडक़ अथवा राजमार्गों से हटाने की दिशा में कार्रवाई करने के लिए कहा था। साथ ही साथ हटाए गए पशुओं को आश्रय के लिए सुनिश्चित जगह प्रदान करने की व्यवस्था करने के लिए निर्देशित किया था। सड़कों और राजमार्गों में घूमते पाए जाने वाले मवेशियों के मालिकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के भी निर्देश दिए थे। कई जगहों पर कार्रवाई भी हुई है। इन सब पर कार्रवाई रिपोर्ट से कोर्ट को अवगत कराया जाएगा।