पुलिस आंदोलन : पत्नी को मारने आरक्षक ने एसपी से मांगी अनुमति, तो किसी ने बच्चे सम्हालने छुट्टी के लिए किया आवेदन

रायगढ़ / बलरामपुर । अपने परिवार को धरने पर जाने से रोकने पुलिस कर्मियों ने एसपी से गुहार लगाई है। आरक्षक वर्ग के दो जवानों ने अपने जिलों के कप्तान से उन्हें मारने-पीटने की अनुमति मांगी है। रायगढ़ के एक जवान ने एसपी को खत लिख कर अपनी पीड़ा बताई और मारपीट की अनुमति मांगी है। जवान ने इस बात का हवाला दिया के वे कभी नहीं चाहते कि उनकी पत्नी और परिवार पुलिस प्रशासन या फिर सरकार के खिलाफ अपनी आवाज़ बुलंद करें, लेकिन पारिवारिक रसूख़ और उनके ज़िद के चलते वे उन्हें रोकने और समझाने में सक्षम नहीं है। जवानों ने उन्हें रोकने अब थर्ड डिग्री ट्रीटमेंट करने की बात कही है।

वहीं दूसरे मामलें में बलरामपुर के एक जवान ने अपनी पत्नी द्वारा धमकी देने की बात कही है। प्रधान आरक्षक पद पर कार्यरत इस जवान ने लिखा है कि- उनकी पत्नी 25 जून को रायपुर में होने वाले पुलिस परिवार आंदोलन में हिस्सा लेने जाने की धमकी दे रही है। रायपुर जाने के लिए वो अपने इकलौते बेटे को भी घर पर अकेला छोड़कर जाने की तैयारी कर रही है। ऐसे में मेरे बच्चों की देखभाल कौन करेगा ?प्रधान आरक्षक ने एसपी बलरामपुर से 24 और 25 तारीख़ को छुट्टी मांगी है जिससे वो अपने बच्चे की देखभाल कर सके।