जब अचानक बस्तर के आंगनबाड़ी केंद्र पहुंची मंत्री अनिला भेड़िया…

सुपोषण अभियान, राशन कार्ड जैसे की मामलों में की चर्चा

बस्तर। महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण विभाग मंत्री अनिला भेंड़िया आज नक्सल प्रभावित बस्तर जिले के करंजी गांव का दौरा किया। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से मिलकर बच्चों और महिलाओं के स्वास्थ्य और पोषण के संबंध में जानकारी ली। मंत्री की गाडी जब बस्तर जिले के गाँव करंजी के आंगबाड़ी केंद्र पहुंची, तो वहां खलबली मच गई। आनन फानन में जिला मुख्यालय से भी अफसर आंगनबाड़ी की तरफ रवाना हुए ही थे के उसके पहले ही मंत्री वहां से जांच पड़ताल कर लौट गई। भेंड़िया ने आंगनबाड़ी कार्यकताओं से कहा कि राज्य सरकार कुपोषण समाप्त करने के लिए अभियान चला रही है, इस अभियान में कुपोषण समाप्त करने के लिए पूरे मन से काम करें।


अनिला भेंड़िया ने ग्रामीणों से भी बातचीत कर उनसे सरकारी योजनाओ का लाभ मिलने की जानकारी ली। उन्होंने ग्रामीणों से सभी लोगों के नवीन राशन कार्ड बनने के बारे में पूछताछ की। उन्होंने गांव के सरपंच से कहा कि कोई भी ग्रामीण राशन से वंचित ना रहे। उन्होंने नवीन राशन कार्ड बनाने से छूटे व्यक्तियों का पता लगाकर शीघ्र राशन कार्ड बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्रामीण बच्चों से बात कर स्कूल जाने के बारे में पूछा और स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों के लिए पढ़ाई शुरू कराने संबंधी निर्देश दिए। इस अवसर पर सांसद छाया वर्मा, पूर्व विधायक प्रतिमा चंद्राकर सहित जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

संबंधित पोस्ट

घुटनों के बल चलकर दंतेश्वरी मंदिर पहुंचे स्वास्थ्य कर्मी, नौकरी बचाने लगाई गुहार

बस्तर के कांकेर में नक्सल मुठभेड़, बम- अन्य सामान बरामद

बस्तर : पत्रकार के खिलाफ एफआईआर को लेकर पत्रकारों ने कमिश्नर-कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

बस्तर : जनताना सरकार का अध्यक्ष और एलओएस सदस्य गिरफ्तार

बस्तर के नारायणपुर में CAF कमांडर की जवानों पर फायरिंग, 2 की मौत, 1 जख्मी

बस्तरः पुणे से लौटा मजदूर कोरोना संक्रमित, कोविड अस्पताल में भर्ती 

बस्तरः जगदलपुर में कोरोना की दस्तक, मिला पहला पॉजिटिव

बस्तरः कांकेर में कोरोना वॉरियर्स डॉक्टर पॉजिटिव

बस्तर : भाजपा नेता को मिला धमकी भरा पत्र, लिखा “तेरा अंत होने वाला है” 

नक्सल प्रभावित क्षेत्र में ऑनलाईन क्लासेस, 61 हजार बच्चे कर रहे पढ़ाई

मौत के मुंह से जिंदा लौटा पुलिस का जवान, नक्सलियों ने लगा दी थी जनअदालत

बस्तर मुठभेड़ में शहीद जवान को दी गई अंतिम सलामी