जब जन घोषणा पत्र के लिए ज़मींन पर बैठ गए “राजा सिंहदेव”


अंबिकापुर। कांग्रेस की तरफ से तैयार किए जा रहे घोषणा पत्र की ज़िम्मेदारी सरगुजा के राजा टीएस सिंहदेव को दी गई है। वे इसके लिए जी तोड़ मेहनत भी कर रहे है। कभी सब्ज़ी बाज़ार में सब्जी बेच रही बुज़ुर्ग महिला से उनकी खैरियत पूछते हुए तो कभी चाय की चुस्की लगाते हुए चाय ठेले पर राजा साहब नज़र आए है। सीधे जनता तक पहुंच कर कांग्रेस का जन घोषणा पत्र तैयार करने में सिंहदेव लगे है। इसी कड़ी में सिंहदेव ने आज तीसरे फेज़ के अभियान की शुरुवात सरगुजा में असंगठित मज़दूरों के साथ चर्चा से की। इसके साथ ही सिंहदेव हड़ताली नर्सिंग स्टाफ, नर्सिंग स्टूडेंट्स, सफाई कर्मचारी और श्रमिक संगठनों के साथ बैठकें की। इसके बाद सिंहदेव ने डीजल और पेट्रोल पंप संचालक, ऑटो ड्राइवर्स यूनियन, प्रेरक संघ और महिला स्व-सहायता समूहों के साथ चर्चा कर जन घोषणा पत्र के लिए महत्वपूर्ण इनपुट इक्कठा किए। ऑटो चालकों से चर्चा चल ही रही थी इस दौरान अचानक सिंहदेव ने सभी से बैठने का आग्रह किया। एक-एक कर सभी ज़मींन पर बैठ गए, और सिंहदेव भी उनके साथ ही ज़मींन पर बैठकर चर्चा करने लगे। सिंहदेव ने बताया कि हमने उन मुद्दों पर इन सभी से खुलकर चर्चा की और राय ली जो उनकी चिंताओं के कई पहलुओं को छूती है, ये चर्चाएं हमारी पहल के लिए अत्यधिक योगदान देती है ! राजा सिंहदेव को खुद के बीच पाकर सभी ने अपनी अपनी परेशानिया और सरकार के खिलाफ नाराज़गी का पिटारा खोल दिया और कांग्रेस के घोषणा पत्र के लिए कई अहम सुझाव दिए।