रायपुर की तिकड़ी भी नहीं कर पाई ये काम…बिलासपुर ने दर्ज़ किया रिकार्ड


रायपुर। राजधानी रायपुर में सड़क सुरक्षा सप्ताह के समापन समारोह के दौरान परिवहन मंत्री ने तीन अफसरों की जमकर तारीफ़ की। मूणत ने कलेक्टर ओपी चौधरी, एसएसपी अमरेश और निगम कमिश्नर रजत बंसल के काम को सराहा। जब मूणत इस तिकड़ी की तारीफ़ कर रही थे, तभी बिलासपुर जिले का नाम लिम्का बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज़ हो गया। इतना ही नहीं बिलासपुर जिले का नाम भारतीय स्टार बुक आफ रिकार्ड्स में भी शुमार है। बिलासपुर पुलिस ने ये रिकार्ड ट्रैफिक रूल्स और सड़क सुरक्षा को लेकर बनाया है। तक़रीबन सिर्फ 8 से 10 घंटे के भीतर ही बिलासपुर के 37 हजार 378 लोगों ने लिखित रूप ट्रैफिक नियमों के पालन करने की शपथ ली। ये अपने आप में अनूठा रिकार्ड है। बिलासपुर से पहले ये रिकार्ड गुवाहटी पुलिस के नाम दर्ज था, लेकिन रोड सेफ्टी के क्षेत्र में इस अनूठी पहल के बूते बिलासपुर पुलिस ने गुवाहटी को काफी पीछे छोड़ दिया। सुबह 8 बजे से ये मुहिम शुरू हुई ये कोशिश देखते ही देखते आमलोगों की मुहिम बन गयी। लोग खुद से इस अभियान में शामिल होते गये और ना सिर्फ ट्रैफिक नियमों के पालन की शपथ ली, बल्कि लिखित रूप से आश्वस्त भी किया।

रिकार्ड बनाने नहीं रूल फॉलो करवाने की थी शरुवात-आरिफ शेख
ऐसा कोई रिकार्ड बनाने के इरादे से अभियान शुरू नहीं किया, लेकिन जब आप कोई नेक काम की शुरुआत करते हैं, तो वो खुद ब खुद एक मुहिम बन जाती है। बहुत खुश हूं कि हमारी टीम की पहल को जनता ने खुद के लिए मुहिम बनाया और ट्रैफिक नियमों को हमेशा फॉलो करने की शपथ ली, ये रिकार्ड की बात नहीं, लोगों की सुरक्षा की बात है। हम चाहते हैं कि जो शपथ पत्र पर हस्ताक्षर ना भी किये हों, वो भी जरूर ट्रैफिक नियमों का पालन करें और ना सिर्फ बिलासपुर बल्कि पूरे प्रदेश और देश में भी लोग ट्रैफिक नियमों का जरूर से जरूर पालन करें।