नकली नोट से खरीदते थे काजू-किशमिश गिरफ़्तार

अंबिकापुर। ड्राई फ्रूट्स की दुकान में तीन सौ का काजू-किशमिश खरीदकर दुकानदार को दो हजार का नकली नोट टिकाने वाले जालसाज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दुकानदार पिता-पुत्र ने संदेह होने पर पुलिस को खबर दी। पुलिस ने हुलिए के आधार पर पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश के रीवा कोल्हागांव निवासी ज्ञानेंद्र तिवारी को गिरफ्तार किया है। एसपी सदानंद कुमार ने बताया कि आरोपी पश्चिम बंगाल के मालदा से दो-दो हजार के पचास नकली नोट खरीदकर लाया था। अंबिकापुर से पहले वह जशपुर में बीस नोट खपा चुका था। बचे हुए तीस नोट खपाने की कोशिश के दौरान पकड़ लिया गया। सदानंद कुमार के मुताबिक तीस हजार देकर एक लाख के नकली नोट लिया था।

असली नॉट मिलते ही भागा
एसपी सदानंद कुमार ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि राम मंदिर रोड स्थित बालाजी ड्राइ फ्रूट्स के संचालक राजेंद्र अग्रवाल व उनका बेटा संदीप बुधवार शाम को पांच बजे ज्ञानेंद्र तिवारी काजू-किशमिश खरीदने के लिए पहुंचा था. उसने तीन सौ रुपए का काजू-किशमिश खरीदने के बाद दो हजार रुपए का नोट थमाया। इसके बाद बेचैनी से छुट्‌टे वापस मिलने का इंतजार करते रहा। जैसे ही अग्रवाल ने सत्रह सौ रुपए लौटाए तो तिवारी हड़बड़ाते हुए तेज कदमों से वहां से पलटा और कुछ ही देर में आंखों से ओझल हो गया। यह देखकर पिता-पुत्र को शक हुआ। उन्होंने नोट निकालकर देखा तो शंका हुई, दोनों तेजी से बाहर निकले, तब तक तिवारी गायब हो चुका था।