अमरजीत ने साधा निशाना, साय ने निभाई थी पत्थलगडी की रस्म


रायपुर। सियासी भूचाल ला चुके पत्थलगड़ी प्रथा पर कांग्रेस ने एक बार फिर सवाल खड़े किये है। आदिवासी कांग्रेस के नव नियुक्त अध्यक्ष अमरजीत भगत ने कांग्रेस भवन में पत्रकारवार्ता में इस बात का खुलासा किया कि जिस प्रथा को लेकर भाजपा हमे आरोपित कर रही है उसकी अगवानी ही भाजपा के वरिठ नेता कर रहे है। प्रदेश सरकार से सवाल दागते हुए अमरजीत ने कहा कि “मैं सरकार से प्रश्न पूछता हूं कि राज्य में सरकार आपकी है, मंत्री आपके हैं, तो राज्य में कानून नाम की चीज है कि नहीं। इनके बड़े नेता पत्थरगड़ी का उद्घाटन नंदकुमार साय करते है। तो मैं पूछता हूँ कि आपके दल के ये नेता है कि नही है, इन सबका उत्तर सरकार दे। इस प्रदेश मे कानून नाम की कोई चीज है भी कि नहीं है आप अगर संविधान से छेड़छाड़ करेंगे तो लोग आंदोलित होंगे ही। पत्थलगड़ी में जो भी हो रहा है इस सब की जवाबदेही सरकार की है और इसकी जवाबदेही सरकार को लेनी चाहिए। अमरजीत ने कहा कि जिन स्थानों पर पत्थलगड़ी की शुरुआत हुई है, मुख्यमंत्री को वहीं से विकास यात्रा, लोक सुराज अभियान की शुरुआत करनी चाहिये। उन क्षेत्रों में सरकार को इनके मंत्रियों को जाना चाहिए और इनसे बात करनी चाहिये।

जवाबदेह है सरकार
पत्थलगड़ी में जो भी हो रहा है इस सब की जवाबदेही सरकार की है और इसकी जवाबदेही सरकार को लेनी चाहिए। वहीं गृहमंत्री के पत्थरगड़ी के मुद्दे पर दिये बयान पर अमरजीत ने कहा कि गृहमंत्री तो खुद अन्धविश्वास को बढ़ावा देते है वो तो खुद कंबल बाबा के पास जाते है, वो खुद अन्धविश्वाश से ग्रसित है।