बीजापुर पिछड़ा नहीं, परिवर्तन का नया मॉडल बनेगा – नरेंद्र मोदी


बीजापुर। छत्तीसगढ़ प्रवास पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजापुर में आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया। इस मौके पर सभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 100 से ज्यादा जिलों में स्वतंत्रता के बाद अब तक पिछड़ापन है, इन जिलों की कोई गलती नहीं थी। बाबा साहेब के संविधान में सबके लिए समान अवसर थे, फिर ये जिले क्यों पीछे छूट गए। पीएम ने कहा कि बीजापुर जैसे जिले पर पिछड़ा होने का लेबल लगाया गया। क्या यहां की मांओं, बहनों, बच्चों, विद्यार्थियों को आगे बढ़ने की उम्मीद नहीं थी। स्कूल, सड़क, अस्पताल यहां नहीं होने चाहिए थे। ये जो आपके बीजापुर जिले में क्या नहीं है, सबकुछ है। उन्होंने कहा, “जो पिछड़े जिले हैं, उनमें प्राकृतिक संसाधन प्रचुर मात्रा में हैं। अब इस जिले में नई सोच, नई आशाओं के साथ बड़े पैमाने पर काम होने जा रहा है। मैंने जनवरी में इन सौ जिलों के प्रशासन से मिला था कि जो ज्यादा तेजी से तरक्की करेगा, उनसे 14 अप्रैल को मिलूंगा और आज मैं बीजापुर में हूँ !
पीएम ने सरकार के कामकाजों की तरफ करते हुए कहा कि बीजापुर के अधिकारियों ने ये करके दिखाया है, पिछड़ेपन को छोड़कर वे नंबर वन बन गए। मैं इन अधिकारियों को सलाम करने आया हूं। इससे ये पता चलेगा कि बीजापुर 100 दिनों में प्रगति कर सकता है तो 115 जिले भी आगे बढ़ सकते हैं। मैं इन जिलों को महत्वाकांक्षी कहना चाहता हूं। ये जिले पिछड़े नहीं रहेंगे, ये परिवर्तन के नए मॉडल बनकर उभरेंगे।

बाबा साहेब की वजह से बन पाया पीएम
भीमराव आंबेडकर की जयंती पर उन्हें नमन करने के बाद मोदी ने कहा कि आज बाबा साहेब की वजह से ही एक गरीब मां का बेटा देश का प्रधानमंत्री बन पाया। मेरे जैसे लाखों-करोड़ों लोगों की आकांक्षाओं को, उम्मीदों को जगाने में बाबा साहेब का बहुत बड़ा योगदान है। मोदी ने कहा कि ये हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर गरीबों के फैमिली डॉक्टर की तरह काम करेगा। आयुष्मान भारत की सोच केवल सेवा तक सीमित नहीं है, बल्कि जन भागीदारी का आह्वान है।