रमन के रथ से होगी “विकास कार्यों की बौछार”


रायपुर। विकाय यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री डाॅ रमन सिंह प्रदेशभर में सौगात और लोकार्पण की बौछार करेंगे। 12 मई से शुरू होने जा रही विकास यात्रा में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह शामिल होने अा रहे हैं। राजनाथ की हरी झंडी से रमन का विकास रथ रवाना होगा। इसके आलावा कई अन्य केंद्रीय मंत्रियों को यात्रा में शामिल होने के लिए अामंत्रित किया गया है। गौरतलब है कि विकास यात्रा में 29 हजार पांच साै करोड़ रूपए के कार्यों का लोकार्पण, शिलान्यास, उद्घाटन किया जाएगा। इस काम के लिए एक करोड़ रूपए से अधिक के सभी कार्यों को शामिल किया जाएगा। 50 लाख गरीबों को स्मार्ट फोन बांटने की शुरूअात से लेकर तेंदुपत्ता बोनस वितरण भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री पहले चरण में 62 विधानसभा क्षेत्रों में पंहुचेंगे। 38 स्थानों पर सभाएं लेने के साथ 53 स्थानों पर रोड़ शो करेंगे। 21 स्थानों पर वे रात्रि विश्राम करेंगे। ये पहले चरण का कार्यक्रम है 16 अगस्त से 30 सिंतबर तक यात्रा का दूसरा चरण समाप्त होगा। इन कार्यक्रमों में कई केंद्रीय मंत्री, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे।

रमन का करें विरोध विकास का नहीं
राज्य सरकार विकास यात्रा की शुरूअात से पहले मुख्य विपक्ष कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री डाॅ रमन सिंह ने कहा है कि डाॅ रमन का विरोध करें तो यह ठीक है लेकिन राज्य में 2003 से लेकर अब तक हुए विकास कार्यों का विरोध करना किसी भी हाल में उचित नहीं है। यही नहीं उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने विकास कार्यों को नकारा है इसलिए जनता ने इस पार्टी को किनारे बैठाल दिया है।

चुनाव के पहले का अाखिरी दांव
मुख्यमंत्री डाॅ.रमन के नेतृत्व वाली यह विकास यात्रा इसी साल के अंत में होने वाले राज्य विधानसभा चुनावों के पहले प्रदेश की भाजपा सरकार का अाखिरी सबसे बड़ा दांव है। प्रदेश में सत्ता की हैट-ट्रिक जमा चुके रमन अौर भाजपा अब पूरी ताकत से चाैथी पारी के लिए जुट गए हैं। राज्य में विपक्षी कांग्रेस सरकार के इस दांव के जवाब में पत्ते बिछाने की कोशिश में सोशल मीडिया पर अधिक सक्रिय दिख रही है। कांग्रेस ने मुद्दा बनाया है कि विकास कहां हुअा है दिखाई नहीं दे रहा है। यह लाईन सोशल मीडिया के माध्यम से बढ़ाने के प्रयास में कांग्रेसी कवायद जारी है। पार्टी ने यह घोषणा की है कि जहां-जहां विकास यात्रा जाएगी उसके पीछे कांग्रेस भी जाएंगे अौर विकास खोजेंगे।