शिक्षाकर्मियों के संविलियन की घोषणा करे सरकार- गजराज सिंह

 

कवर्धा। सरकार ने शिक्षाकर्मियों को एक बार फिर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा के लिए बुलाया है। कल 1 मई को रायपुर मंत्रालय में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में शिक्षाकर्मी संघों के पदाधिकारियों के साथ बैठक होगी। शालेय शिक्षाकर्मी संघ के जिलाध्यक्ष व शिक्षक मोर्चा के जिला संचालक शिवेंद्र चंद्रवंशी ने बताया कि शिक्षाकर्मियों की मांगों व समस्याओं को लेकर सरकार ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक हाई पावर कमेटी का गठन किया है। जो शासन को रिपोर्ट सौंपेगी। 1 मई को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में रायपुर में महत्वपूर्ण बैठक होगी। जिसमें हर बार की तरह इस बार भी शिक्षक मोर्चा द्वारा संविलियन के मुद्दे को प्रमुखता से रखा जाएगा। प्रदेश प्रवक्ता गजराज सिंह राजपूत ने बताया कि यह बैठक अंतिम हो और इस दिन संविलियन की घोषणा भी हो। बैठकों का पूर्व अनुभव शिक्षाकर्मियों के लिए निराशाजनक रहा है। उम्मीद है ये बैठक खुशखबरी लेकर आये। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश के शिक्षाकर्मी केवल परिणाम चाहते हैं, और संविलियन पाना ही हमारा मुख्य लक्ष्य है। संविलियन से कम हमें कुछ नही चाहिए। मुख्यमंत्री की पूर्व की घोषणा को अब अमलीजामा पहनाने का सही समय है। प्रदेश के समस्त शिक्षाकर्मियों का संविलियन कर छत्तीसगढ़ के युवाओं को उज्ज्वल भविष्य प्रदान करना चाहिए। संघ के मनीष सोनी, भानूप्रताप राजपूत, मुनव्वर बेग, अब्दुल आसिफ खान, विष्णु कौशिक, मोहन राजपूत, संजय जायसवाल, राकेश जोशी, वीरेंद्र चंद्रवंशी, सुनील माग्रे, कर्नल तिवारी, रवि वर्मा, रामकुमार वर्मा, शरद वर्मा, अतुल तिवारी, देवानंद त्रिपाठी, नरेंद्र चंद्रवंशी, संतोष शर्मा, मोनिका शर्मा, रचना केशरी, वर्षा मानिकपुरी, तरुणा नामदेव सहित समस्त शिक्षाकर्मियों ने सरकार से अविलंब संविलियन की घोषणा किए जाने की मांग की है।