शिक्षाकर्मी 26 मई को मनाएंगे संविलियन संकल्प दिवस, 90 विधानसभा में होगी सभा

रायपुर। छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मी संविलियन के लिए अलग अलग तरीके से अभियान चलाएंगे। पत्थलगड़ी की तर्ज पर संविलियनगड़ी दो चरणों में होगा। इसके तहत शिक्षाकर्मी नए मित्र मनाएंगे और उन्हें मांग की सार्थकता व सरकार की वादाखिलाफी से अवगत कराएंगे। जिसे सेल्फी विथ फ्रेंडस का नाम दिया गया है।
शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के प्रदेश संचालक वीरेंद्र दुबे, संजय शर्मा, केदार जैन, चंद्रदेव राय व विकास राजपूत ने बताया कि अभियान का क्रियान्वयन दो तरह से किया जाएगा छत्तीसगढ़ में गड़ी का अर्थ मित्र या सखा भी होता है। इसके अंतर्गत हम संविलियन के लिए नए मित्र बनाएंगे। नए मित्रों को संविलियन की मांग की सार्थकता तथा उसके प्रति सरकार की अब तक की विफलता से अवगत कराया जाएगा। अपने सभी प्रयासों के साथ उन्हें जोड़ेंगे। इसके लिए सेल्फी विथ फ्रेंड्स चलाया जाएगा। इसके साथ ही सेल्फी विद फैमिली, सेल्फी विद कम्युनिटी, सेल्फी विद स्टूडेंट भी चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि गड़ी का दूसरा अर्थ गड़ाना भी होता है। इसके अंतर्गत सरकार के उन वादों, दावों संकल्प व घोषणा जिनका अब तक क्रियान्वयन नहीं हो सका उसे बैनर-पोस्टर तथा अन्य माध्यमों से लोगों तक पहुंचाया जाएगा।
प्रदेश उपसंचालक धर्मेश शर्मा, चन्द्रशेखर तिवारी और जितेन्द्र शर्मा ने बताया कि प्रदेश के समस्त शिक्षाकर्मी 26 मई के संविलियन संकल्प दिवस की जोर शोर से तैयारी में जुट गए हैं।उन्होंने साफ किया है कि मोर्चा की सहभागिता के बिना होने वाले किसी भी सम्मेलन से उनका कोई संबंध नहीं होगा। 26 मई को राज्य की समस्त 90 विधानसभा क्षेत्रों में संविलियन संकल्प दिवस में संकल्प लिया जाएगा। सफल लोकतंत्र के लिए मतदाता जागरूकता का कार्यक्रम भी किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि 11 मई को राजधानी रायपुर के बूढ़ा तालाब स्थित धरना स्थल पर शिक्षक पंचायत नगरीय निकाय मोर्चा के आह्वान पर महापंचायत का आयोजन किया गया था। शिक्षाकर्मियों का दावा है कि इसमें 50 हजार से अधिक शिक्षक जुटे थे। वे अब संविलियन से कम कोई फार्मूले के लिए तैयार नहीं हैं।