कांग्रेस ने तेज़ की चुनावी चाल, 72 घंटे में होंगे आधा दर्जन संकल्प शिविर


रायपुर। कांग्रेस ने संकल्प शिविरों के माध्यम से विधानसभा चुनावों की तैयारियां तेज कर दी है। संकल्प शिविरों के माध्यम से कांग्रेस अपने जमीनी कार्यकर्ताओं को तैयार कर रही है। बिलासपुर संभाग से शुरू हुए इस संकल्प शिविर की रफ़्तार को और आगे बढ़ाते हुए कांग्रेस महज़ 72 घंटों में 7 संकल्प शिविरों का आयोजन करने जा रही है। कांग्रेस ने इस शिविर के माध्यम से 8 मई के तक राज्य के एक तिहाई विधानसभा क्षेत्रों में बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण का काम पूरा करने का लक्ष्य रखा है। कांग्रेस के मतदान केन्द्र स्तरीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविरों के तीसरे चरण में दुर्ग संभाग में 7 संकल्प शिविर होंगे। 6 मई को डोगरगांव, दुर्ग शहर और वैशाली नगर के संकल्प शिविर होंगे। 7 मई को राजनांदगांव और सक्ती के संकल्प शिविर होंगे। 8 मई को खैरागढ़ और डोगरगढ़ में संकल्प शिविर होंगे।

इन स्थानों में प्रशिक्षण हुआ पूरा
दुर्ग संभाग के 11 संकल्प प्रशिक्षण शिविर मोहला-मानपुर, डौंडी लोहारा, अहिवारा, भिलाई, पाटऩ, बालोद, दुर्ग-ग्रामीण, खुज्जी, गुंडरदेही, नवागढ़, बेमेतरा और बिलासपुर संभाग के 14 विधानसभा क्षेत्रों के संकल्प प्रशिक्षिण शिविर बिलासपुर, बिल्हा, रायगढ़, सारंगढ़, जांजगीर-चांपा, मुंगेली, मस्तुरी, अकलतरा, पाली-तानाखार, लैलूंगा, बेलतरा, मरवाही, कोटा, तखतपुर हो चुके है।

सेक्टर प्रभारी भी देंगे जवाब
कांग्रेस के सभी 90 सीट विधानसभा क्षेत्रों की 9500 सेक्टर प्रभारियों के प्रशिक्षण का कार्य जून 2017 से सितंबर 2017 के बीच पूरा कर चुकी है। इन्हें मतदान केंद्र प्रबंधन, भाजपा आरएसएस की करतूतों के साथ-साथ कांग्रेस की उपलब्धियां रीति-नीति और सिंद्धात और सोशल मीडिया का भी प्रशिक्षण दिया गया है। जिससे कार्यकर्ता चुनावी हमलों को माकूल जवाब दे सकें।