सीएम ने की अपील “18 अप्रैल को मनाए स्वच्छ भारत दिवस”

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के सभी पंच-सरपंचों और ग्रामीणों से 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस के आयोजनों में सक्रिय भागीदारी की अपील की है। पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री अजय चंद्राकर ने भी इन आयोजनों में पंचायत प्रतिनिधियों और आम जनता से सहयोग का आव्हान किया है। छत्तीसगढ़ के लगभग बीस हजार गांवों में बुधवार 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस मनाया जाएगा। इस अवसर पर सभी ग्राम पंचायतों में जनभागीदारी से स्वच्छता के विषय पर जनजागरण के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। ऐसी ग्राम पंचायतें, जो अब तक खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) घोषित नहीं हो पायी है, उनमें स्वच्छता के लिए ग्रामीणों के सहयोग से जनआंदोलन चलाया जाएगा।
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले स्वच्छ भारत मिशन के शुरू होने के लगभग साढ़े तीन वर्ष के भीतर छत्तीसगढ़ की दस हजार 971 ग्राम पंचायतों में से दस हजार 725 ग्राम पंचायतें खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) होने की स्थिति में आ चुकी हैं। इन ग्राम पंचायतों के 18 हजार 769 गांव भी ओडीएफ ग्राम बनने की स्थिति में आ गए हैं। राज्य के नक्सल प्रभावित इलाकों की ग्राम पंचायतों को भी ओडीएफ घोषित करने के लिए जनसहयोग से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। यह मिशन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर दो अक्टूबर 2014 से शुरू हुआ है। उनकी 150वीं जयंती पर दो अक्टूबर 2019 तक इस मिशन के तहत पूरे देश को खुले में शौच की प्रथा से मुक्त करने का लक्ष्य है, लेकिन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस मिशन में प्रदेशवासियों के भरपूर सहयोग को देखते हुए छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय लक्ष्य से एक वर्ष पहले की दो अक्टूबर 2018 तक ’उज्जर-सुग्घर हमर छत्तीसगढ़’ के रूप में शत-प्रतिशत ओडीएफ बनाने का लक्ष्य तय किया है।