बीजापुर : चाबी ने खोल दिया लाश का राज…

प्रेमी ही निकला प्रेमिका का कातिल

बीजापुर। आखिरकार बैदरगुड़ा हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। इसं अंधे कत्ल में लाश के पास केवल एक चाबी मिली थी जिसने पूरे राज खुलवा दिए। पुलिस ने सीसीटीवी की भी मदद ली और फिर कभी नक्सली रहा प्रेमी गिरफ्तार कर लया गया।
बैदरगुड़ा में दस दिन पहले मिली युवती सुनीता पोयाम के अंधे कत्ल का हत्यारा उसका प्रेमी ही होगा इसका अंदाजा किसी को नहीं था। एसपी दिव्यांग पटेल ने मीडिया को बताया कि ये बड़ा ही पेचिदा मामला था और इसका ओर-छोर ही नहीं मिल रहा था। युवती की हत्या 16 सितंबर को हुई थी। पुलिस को 18 सितंबर की रात अज्ञात युवती की लाश बैदरगुड़ा में मिलने की खबर मिली। दूसरे दिन सुबह जब पुलिस वहां पहुंची तो उसकी शिनाख्त करना मुश्किल हो गया।

                        कोई सुराग नहीं जिससे युवती के बारे में पता लगाया जा सके। लाश के पास सिर्फ एक चाबी ही मिली और इसी से पुलिस ने राज खोलना शुरू किया। पुलिस ने उसी दिन ही बैदरगुड़ा के आसपास बंद घरों को उसी चाबी से खोलना शुरू किया। एक मकान का ताला उस चाबी से खुल गया। अंदर युवती का आधार कार्ड और दीगर कागजात मिले। फिर पुलिस हरकत में आई। उसके मोबाइल डिटेल को खंगाला और उनसे पूछताछ की गई। इसके बाद शहर में लगाए गए तीन दर्जन सीसीटीवी को खंगाला गया। इसके बाद हत्या की परतें खुलने लगीं।
कुटरू निवासी 24 साल की सुनीता पोयाम 16 सितंबर की शाम मस्जिद के पास इमाम के पास गई थी। इमाम ने बताया कि वह धार्मिक काम के बाद निकल गई। पुलिस ने फिर मस्जिद से उसे ट्रेस करना शुरू किया। वह जिस ओर गई और जिससे मिली, उनसे पूछताछ की गई। आखिर में वह महादेव प्रेमी बुधरू के साथ जाती दिखाई दी।

शादी का बनाया दबाव तो की हत्या
पुलिस जब बुधरू के घर नयापारा गई तो पता चला कि वह अपने गांव चेरकंटी गया था। उसे पकड़ने खबर भिजवाई गई कि उसकी नौकरी लग गई है। वह जब बीजापुर पहुंचा तब उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उसने कबूल किया कि उसने ही गला दबाकर हत्या की है। उसके सुनीता से प्रेम संबंध थे। वह शादीशुदा है, उसके एक अन्य युवती से लिव इन पर है। इसके बाद भी उसने सुनीता से प्रेम संबंध बनाए। बताया कि जब बैदरगुड़ा गए तब सुनीता ने अपनाने का दबाव बनाया। इसके बाद क्षणिक आवेश में उसने हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी द्वारा फेंके गए सुनीता का मोबाइल बैदरगुड़ा तालाब से बरामद किया।