पहले काटे पैसे अब 6 फीसदी सूद के साथ लौटाएगा एसबीआई

छत्तीसगढ़ राज्य उपभोक्ता फोरम ने दिया फैसला

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य उपभोक्ता फोरम में स्टेट बैंक से जुड़े एक मामले में फैसला सुनाते हुए उपभोक्ता को राहत दी है। वही बैंक को भी फटकार लगाई है। दरअसल स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया न्यू शांति नगर के शाखा में उपभोक्ता भरत अंदानी का खाता है। जिसमें से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने उनके अकाउंट से 6700 डिटेक्ट कर लिए थे। जिसके बाद अंदानी ने इसकी जानकारी बैंक से लेनी चाहि, जिस पर बैंक प्रबंधन ने उनके खाते से काटी गई राशि का संतोष जनक जवाब नहीं दिया। जिसके बाद भरत ने उपभोक्ता फोरम का दरवाजा खटखटाया।

Chhattisgarh State Consumer Forum                          जिसमें न्यायधीश उतरा कुमार कश्यप ने पूरे मामले को विस्तृत और तथ्य पूर्ण तरीके से सुना और अपना अंतिम फैसला सुनाया। कोर्ट ने अपना फैसला उपभोक्ता भरत अंदानी के पक्ष में देते हुए स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया न्यू शांति नगर की शाखा को आदेशित किया है कि उनके खाते से काटी गई 6700 रुपए की राशि बैंक उन्हें 6 फीसदी वार्षिक ब्याज के साथ उन्ह लौटाई जाए। साथ ही उनके मानसिक कष्ट के लिए उन्हें बैंक रुपए 3 हज़ार की क्षतिपूर्ति प्रदान करे। इसके साथ ही न्यायलय ने बैंक को उपभोक्ता के अधिवक्ता शुल्क रुपए 2 हज़ार को भी वहन करने का आदेश दिया है। वहीं कोर्ट ने फैसले में अंतिम टिपण्णी करते हुए ये भी कहा है कि यदि कोर्ट द्वारा निर्धारित समय सीमा में उपभोक्ता भरत अंदानी को उक्त लिखित राशियों का भुगतान नहीं करता है तो बैंक प्रबंधन को उपभोक्ता को मानसिक प्रताडऩा के लिए 10000 रुपए देय होगा।