बढ़ी मुकेश गुप्ता की मुश्किलें बैठी विभागीय जांच

7 जून को पीएचक्यू में डीजीपी दफ्तर में किए गए तलब

रायपुर। फोन टैपिंग के मामले में निलंबित हुए डीजी मुकेश गुप्ता की मुश्किलें और बढ़ती जा रही हैं। मुकेश गुप्ता के खिलाफ अब विभागीय जांच की शुरू हो चुकी है। मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस विभाग ने निलंबित डीजी मुकेश गुप्ता के खिलाफ विभागीय जांच बिठा दी है। जिसमें मुकेश गुप्ता को उनका पक्ष रखने के लिए 7 जून को पुलिस मुख्यालय में डीजीपी दफ्तर तलब किया गया है।

आईपीएस मुकेश गुप्ता                  इस दौरान डीजी मुकेश गुप्ता से सम्भवतः डीजीपी समेत विभागीय अधिकारी मामलें में उनका पक्ष सुनेंगे। इसके साथ ही उनसे फोन टेपिंग और नान घोटाले जैसे कई मामलों में विभागीय सवाल जवाब भी किए जा सकते है। गौरतलब है कि इसके पहले आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो ने भी डीजी मुकेश गुप्ता से पूछताछ की है। गौरतलब है कि 21 मई को मुकेश गुप्ता को बयान के लिए तलब किया गया था। लेकिन उनके वकील अमीन खान ईओडब्ल्यू दफ्तर पहुंचे थे। आईपीएस मुकेश गुप्ता जहां उन्होंने मुकेश गुप्ता के तबीयत खराब होने की दलील देकर बयान के लिए अगली तारीख मांगी थी। जिस पर ईओडब्ल्यू ने उन्हें जून महीने का पहला सप्ताह का समय तय किया है।

चार घंटे हुई थी पूछताछ
निलंबित डीजी मुकेश गुप्ता ने पिछली दफा अपने बयान के दौरान फोन टेपिंग को लेकर अपना रव्वैया साफ कर चुके है। उन्होंने खुद पर लगे तमाम आरोपों को खारिज कर दिया था। पिछली दफे मुकेश गुप्ता से तक़रीबन 4 घंटे तक पूछताछ की गई थी। उन्होने आईजी जीपी सिंह के समक्ष अपना बयान दर्ज कराया था।