बस्तर में अब शिक्षक भी नक्सल निशाने पर , दहशत का माहौल

बंधक बनाकर शिक्षक को उतरा मौत के घाट,

जगदलपुर। बीजापुर जिले में हफ्ते भर पहले एक छात्र की नक्सल हत्या के बाद आज शनिवार सुबह एक शिक्षक की गला रेतकर हत्या कर दी गई।नक्सलियों ने घर से उसे उठा लिया था। इसके घंटे भर बाद उसकी लाश मिली।
सुकमा एसपी शलभ सिन्हा के मुताबिक इलाके में नक्सली दहशत से कई स्कूल बंद पड़े हैं। इन बंद पड़े स्कूलों को खुलवाने के लिए प्रशासन द्वारा मुचाकी लिंगा को शिक्षा दूत नियुक्त किया गया था। उन्होंने बताया कि हत्या की सूचना उन्हें अवश्य मिली है, किंतु लिंगा के परिजनों ने अब तक थाने में शिकायत दर्ज नहीं करवाई है।

                                      सूत्रों के अनुसार सुकमा के बेनपल्ली गांव में आज सुबह 8-10 वर्दीधारी सशस्त्र नक्सलियों ने धावा बोला। नक्सली गांव के युवक मुचाकी लिंगा को घर से अगवा कर जंगल की ओर ले गए। एक घंटे बाद उसका शव मुख्य मार्ग पर पड़ा मिला। लिंगा की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की गई है। हत्या से पूर्व उसे लाठी डंडों से बुरी तरह पीटा गया है।

उल्लेखनीय है कि एक हफ्ते पहले बीजापुर में नक्सलियों ने स्कूली छात्र को मार डाला। छात्र के माता पिता की कुछ साल पहले मौत हो जाने की वजह से वह अपने चाचा के घर पर रहकर पढ़ाई कर रहा था। बासागुड़ा थाना क्षेत्र के तिम्मापुरम गांव में नक्सलियों ने दसवीं में पढ़ने वाले रमेश कुंजाम की हत्या भी अपहरण के बाद कर दी थी। इसके बाद जनअदालत लगाकर बच्चे को दोषी करार देकर, उसकी हत्या की। गांव वालों ने नक्सलियों के डर से पुलिस को सूचित नहीं किया।