अब जागा निगम गिरते जलस्तर के लिए चलाएगा अभियान

तालाबों को रिचार्ज कर बारिश के पानी को बचाने शुरू की कवायद

रायपुर। तेज गर्मी और तपिश के बीच शहर में अधिकांश जगह भूगर्भीय जल निम्नतम स्तर पर चला गया है।नगर निगम अपने सभी संसाधनों के साथ अंतिम छोर तक जल आपूर्ति की कवायद कर रहा है,साथ ही गिरते जल स्तर के संकट को दूर करने रायपुर स्मार्ट सिटी के साथ मिलकर दूरगामी रणनीति पर काम भी शुरू कर दिया है। कमिश्नर शिव अनंत तायल ने सभी जोन आयुक्त को पेयजल आपूर्ति हर मोहल्ले तक हर हाल में पहुंचाने के निर्देश दिए हैं,वहीं उनके निर्देश पर तकनीकी पहलुओं को परख कर राजधानी के तालाबों को रिचार्ज कर भू जल स्तर के संरक्षण की रणनीति बनाई गई है।


ज्ञात हो कि बारिश के जल के संरक्षण के प्रति निष्क्रियता के चलते मोहल्लों में लगे सैकड़ों बोर सूखे है। कमोबेश यही हाल पुराने कुएं और विशेषकर तालाबों का है,जो कभी आम निस्तारी का साधन हुआ करती थी।नगर निगम , अमृत मिशन और स्मार्ट सिटी के साथ मिलकर पेयजल टंकियों के निर्माण की महत्त्वाकांक्षी योजना पर कार्य कर रहा है,साथ ही तालाबों और भवनों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग पर इस बार पूरा फोकस दिया जा रहा है। विशेषज्ञों का भी मानना है कि तालाबों के भराव और वर्षा जल के संग्रहण पर ठोस नीति निर्धारण कर जल स्तर सुरक्षित किया जाना जल आवश्यकता की पूर्ति का उत्तम विकल्प है।

            इससे बंद हो रहे नलकूपों को नया जीवन मिलेगा और सार्वजनिक जल प्रणाली के विस्तार के साथ बोर रिचार्ज से जमीनी स्तर पर पानी की आपूर्ति सभी के लिए सुगम होगी।स्मार्ट सिटी इस बार योजनाबद्ध तरीके से तालाबों को रिचार्ज कर उसके संरक्षण व संवर्धन हेतु काम कर रहा है।इसके सकारात्मक प्रभाव भी अगले साल से दिखाई देने लगेंगे। कमिश्नर तायल ने इस बार गर्मी के मौसम में जल कार्य विभाग की पूरी टीम को मैदान पर उतार दिया है, अधिकारियों से भी उन्होंने कहा है कि मांग आते ही जलापूर्ति के लिए बेहतर नेटवर्क के साथ समस्या का निराकरण तत्काल करें।

निगमजोन एक है सबसे ज़्यादा प्रभावित
जल स्तर में गिरावट से सबसे अधिक प्रभावित ज़ोन 1 के कार्यपालन अभियंता लोकेश चंद्रवंशी ने इस संबंध में की गई व्यवस्था की जानकारी देते हुए बताया कि इस जोन के सभी 8 वार्डों में कुल 28 टैंकरों से पानी की सप्लाई की जा रही है। इनमें 6 टैंकर विभागीय और 22 टैंकर किराए के हैं। चंद्रवंशी ने आगे बताया कि लगभग डेढ़ लाख की जनसंख्या वाले ज़ोन में पानी की अनुमानित खपत 150 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन है, इसके अनुसार पानी की सप्लाई की जा रही है।

जोन 8 में भी सूखे बोर
ज़ोन 8 में 6 टैंकरों से उन जगहों पर पानी की सप्लाई की जा रही जहाँ बोर सूख चुके हैं। साथ ही जहाँ पर जल प्रवाह कम है।टैंकरों से जल की सप्लाई के अलावा शहर में तालाब के उन्नयन का कार्य भी किया जा रहा है ताकि तालाबों में वाटर रीचार्ज प्रणाली द्वारा भूगर्भीय जलस्तर को बढ़ाया जा सके।