बिलासपुर रेलवे जोन से बम पार्सल…पर…

हाईअलर्ट के चलते हुई जांच पड़ताल में हुआ खुलासा

बिलासपुर। ट्रेन में संदिग्ध पार्सल की सूचना मिलते ही बिलासपुर रेलवे जोन में हड़कंप मच गया। दरअसल मेरठ मेरठ रेलवे स्टेशन पर दो पार्सलों को कोई लेने ही नहीं आया। पार्सल के प्रभारी को शक हुआ तो जीआरपी और आरपीएफ को खबर दी। पार्सल खोलने पर उसमें कंबल से लिपटा हुआ गांजा निकला। आधा क्विटल से ज्यादा 61 किलो गांजे को कंबल से इस तरह ढंककर रखा गया था कि बाहर दुर्गंध न फैले। बिलासपुर से पार्सल होने के कारण यहां हड़कंप मचा। बिलायपुर रेलवे ने जांच शुरू की तो पाया कि यह बात सामने आई है कि दोनों पार्सल ओडिशा के किसी जगह से आए थे। इसके बाद यहां से मेरठ के लिए रवाना किया गया। आरपीएफ के निशाने पर पार्सल एजेंट हैं। उनसे आए सामानों की जांच की जा रही है।


उल्लेखनीय है कि ओडिशा के बलांगीर जिले के पाटनागढ़ में 2 साल पहले एक शिक्षक ने रंजिश भुनाने अपने प्राचार्य के पुत्र की शादी में गिफ्ट में पार्सल बम भेजा था। जिसे खोलते ही नवविवाहित युगल समेत उसकी नानी और एक अन्य सद्स्य चेपट में आ गए। तीन की जानें गईं और नवविवाहिता बुरी तरह से जख्मी हो गई थी। यह पार्सल छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से एक कोरियर से भेजा गया था। अबकी बार यह पार्सल न्यायधानी बिलासपुर से गुजरते भेजा गया।

जानकारी के मुताबिक बिलासपुर से चंद्रशेखर नाम के एक व्यक्ति ने मेरठ में सुनील के नाम पर दो पार्सल बुक कराए थे। पुरी-हरिद्वार एक्सप्रेस से 8 अक्टूबर को दोनों पार्सल मेरठ रेलवे स्टेशन पर उतारे गए। जब कोई लेने नहीं आया, तब पार्सल प्रभारी को संदेह हुआ। चूंकि त्योहार के कारण हाई अलर्ट है, इसलिए सुरक्षा प्रभारी को खबर दी। इस तरह पूरा मामला सामने आया। बिलासपुर से बुकिंग होने के कारण इसकी खबर यहां दी गई।