SECL में एस.एम. चौधरी ने संभाला निदेशक (वित्त) का जिम्मा

कोल इण्डिया लिमिटेड में महाप्रबंधक (वित्त) की सम्हाल चुके है ज़िम्मेदारी

बिलासपुर। एसईसीएल के नए निदेशक (वित्त) का पदभार ग्रहण किया। लगभग तीन दशकों से अधिक समय से कोयला उद्योग में विभिन्न पदों पर चौधरी ने अपनी सेवाएं दी हैं। इससे पहले वे डब्ल्यूसीएल, नागपुर में इसी पद पर कार्यरत थे। इसी दौरान उन्होंने 28 दिसंबर 2018 से 04 अप्रैल 2019 तक एसईसीएल के निदेशक (वित्त) का अतिरिक्त प्रभार भी संभाला। पूर्व में वे कोलइण्डिया लिमिटेड, कोलकाता में महाप्रबंधक (वित्त) रहे हैं। चौधरी एक क्वालिफाईड चार्टर्ड अकाउंटेंट, कॉस्ट एण्ड मैनेजमेंट अकाउंटेंट एवं कंपनी सेक्रेटरी हैं। उन्होंने भारत के चार्टर्ड एकाउंटेंट्स संस्थान से आईएफआरएस और अप्रत्यक्ष कर पर प्रमाणित पाठ्यक्रम भी पूरा किया है। सेन्ट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड से खनन उद्योग में उन्होंने अपने कैरियर की शुरूआत की।


चौधरी को उनके उत्कृष्ट कार्यों के लिए विभिन्न अवार्ड से सम्मानित किया गया है। इनमें माईन्स क्लोजर प्लान से संबंधित अनूठी वित्तीय योजना की औपचारिकताओं के लिए कोल इण्डिया द्वारा दिया गया विशेष उपलब्धि पुरस्कार, 19 जनवरी 2018 को मुम्बई में इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया द्वारा पीएसयू श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ सीएफओ पुरस्कार आदि प्रमुख हैं। चौधरी को वर्ष 2019-20 के लिए भारत चार्टर्ड अकाउंटेंट संस्थान, नई दिल्ली के उद्यमिता और सार्वजनिक सेवा (सीएमईपीएस) के लिए केन्द्रीय समिति में सदस्य के रूप में भी नामित किया गया है। ज्ञात हो कि एसईसीएल के सीएमडी पर ए.पी. पण्डा के चयन के बाद चयनोपरांत एसईसीएल के निदेशक (वित्त) का पद रिक्त हो गया था। चौधरी के एसईसीएल में निदेशक (वित्त) के पूर्णकालिक पदभार ग्रहण करने पर एसईसीएल के कार्यों में गति आएगी।