माइकल पात्र बने आरबीआई के डिप्टी गवर्नर

नई दिल्ली। माइकल पात्र को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) का नया डिप्टी गवर्नर नियुक्त किया गया है। आरबीआई के मौजूदा कार्यकारी निदेशक पात्र को यह जिम्मेदारी मंगलवार को सौंपी गई। यह पद करीब छह महीने पहले विरल आचार्य के इस्तीफे के बाद से खाली पड़ा हुआ था। कैबिनेट की नियुक्ति समिति की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, पात्रा को तीन साल के लिए नियुक्त किया गया है। पात्रा ने आचार्य का स्थान लिया, जिन्होंने पिछले साल 23 जुलाई को पद छोड़ दिया था।

पात्रा भारतीय रिजर्व बैंक में चौथे डिप्टी गवर्नर के रूप में पदभार संभालेंगे। वह संभवत: आचार्य द्वारा संचालित मौद्रिक नीति का कार्यभार संभालेंगे। वह सभी महत्वपूर्ण मौद्रिक नीति समिति में भी शामिल होंगे, जो ब्याज दर पर निर्णय लेती है।

पात्रा उन उम्मीदवारों में से एक हैं, जिनका वित्त मंत्रालय की समिति ने साक्षात्कार लिया था। समिति में बैंकिंग और वित्त सचिव राजीव कुमार शामिल थे। समझा जाता है कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी पात्रा के नाम पर मुहर लगाई है।

इस पद पर परंपरागत रूप से केंद्रीय बैंक के बाहर के अर्थशास्त्रियों का चयन होता रहा है। आचार्य से पहले इस पद पर उर्जित पटेल थे, जिन्हें बाद में गवर्नर बना दिया गया।

2017 में आरबीआई के साथ करियर शुरू करने वाले माइकल पात्रा की मौद्रिक नीति को लेकर सोच आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास से मेल खाती है। दास के दिसंबर 2018 में पद संभालने के बाद से रेपो रेट में लगातार तीन बार हुई कटौती में पात्रा ने हमेशा पक्ष में मतदान किया है।

संबंधित पोस्ट

ईएमआई भरने की अवधि 31 अगस्त कर बढ़ी

बैंकरों के साथ क्रेडिट प्रवाह, राहत उपायों के क्रियान्वायन की समीक्षा

Corona Effect : आरबीआई ने म्यूचुअल फंड को दी बड़ी राहत

RBI ने रद्द की सलाहकार, विशेषज्ञों और विश्लेषकों की भर्ती प्रक्रिया

रेपो रेट में कटौती के बावजूद टूटे सेंसेक्स, निफ्टी

आरबीआई ने तीन माह तक बैंक की ईएमआई से दी राहत

मप्र : राज्यपाल के दूसरे पत्र के बाद भी फ्लोर टेस्ट पर संशय

आरबीआई 6 माह तक करेगी 2 अरब डॉलर की खरीद-बिक्री

RBI Recruitment 2020 : सहायक भर्ती के लिए परीक्षा शुरू

RBI असिस्टेंट की प्रारंभिक परीक्षा के ज़ारी होंगे एडमिट कार्ड

RBI Recruitment : 24 जनवरी तक बढ़ी सहायक भर्ती की तारीख

अभिभाषण में राज्यपाल ने कहा – सरकार ने दी एसटी एवं एसटीएससी वर्गों को दी बेहतर ज़िंदगी