3 क्विंटल गांजा के साथ 3 गिरफ्तार

कोरिया के पटना पुलिस की कार्रवाई

बैकुंठपुर। सरगुजा संभाग के कोरिया जिले की पटना पुलिस ने तीन क्विंटल गांजा बरामद करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गांजे का बाजार मूल्य साढ़े 24 लाख आंका गया है। तीनों आरोपी चिरमिरी, श्रीनगर और बुढ़ार के निवासी हैं।

पुलिस के मुताबिक आज मुखबिर से सूचना मिली कि स्कार्पियो वाहन क्रमांक सीजी 16 सीएल 9964 में मादक पदार्थ गांजा उदिसा से लेकर सूरजपुर की तरफ से बेशण्टापुर की ओर ले जाया जा रहा है। सूचना पर ना प्रभारी निरीक्षक सत्यप्रकाश तिवारी के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा क्षेत्र की घेराबंदी कर वाहनो की जांच की गई। इसी दौरान स्कार्पियो बाहन क्रमांक सीजी 16 सीएल 8964 अम्बिकापुर की ओर से तेजी आती हुई दिखाई दी जिसे पुलिस टीम द्वारा रूकने का संकेत देने पर रोट पर लगाये बेरिकेटो देकर मारते हुए आगे निकल गई। पीछा करते हुए आगे की टीम को सूचित किया गया।

कुछ दूर आगे चलने के बाद पुलिस टीम द्वारा बाहन को रोकने में सफलता प्राप्त हुई जिसकी तलाशी लेने पर वाहन में तीन व्यक्ति कमलेश जायसवाल पिता निवासी गोदरीपारा चिरमिरी, बहादुर रामरे उर्फ पणू रठोस जिला सूरजपुर, रमेश कुमार देवांगन रामानुजनगर जिला सूरजपुर सवार होकर अपने  291 किलो अवैध मादक पदार्थ गांजा का परिवहन करते पाये गये। आरोपियों के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

मुखबिर सूचना पर ही टीम द्वारा एक अन्य आरोपी योगेश (34) निवासी युहार खालपारा थाना पटना में दबिश देकर आरोपी से14 किलो अवैध मादक पदार्थ गांजा जब्त कर आरोपी के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रकरण पंजीगड़ पर विवेचना में लिया गया। जब्तशुदा गांजा का बाजार मूल्य लगभग 24,40,000 रुपये है।

 

संबंधित पोस्ट

बेटे की चाहत में पत्नी को मार डाला

70 की उम्र में 5वीं पास कर सुर्खियों में रहा जशपुर का यह बुजुर्ग अब मांग रहा सपरिवार इच्छामुत्यु

कोरिया पंचायत चुनावः आग तापने के बहाने बैठकों का दौर

चिरमिरी में कोयला वैगन में चढ़ा युवक ओएचई की चपेट में, मौत

कोरिया का बैकुंठपुर शासकीय कुक्कुट हेचरी सील

जंगल में जुआ, सवा लाख जब्त, सात बंदी

कमरा बंद कर खुद को आग लगा ली

भटके हाथी ने बुजुर्ग को कमरे से खींच पटक मारा

नए साल में सरगुजा में गौकशी की घटनाएं, माहौल गरमाया

लीज खत्म होने के नाम पर अफसर ने बांट दी जमीन

बाजार में बिक नहीं रहा, सोसायटी खरीद नहीं रही, क्या होगा कर्ज का…

राजनांदगांव के मनगटा जंगल में बाघ की धमक