अपने ही करंट के फंदे में फंसकर मारा गया एक शिकारी, 2 साथी गिरफ्तार

रजिंदर खनूजा, महासमुन्द| महासमुन्द जिले से सटे  कसडोल के सोनाखान वन परिक्षेत्र के जंगल में मंगलवार एक जून को अपने ही फैलाये  करंट के फंदे में फंसकर एक शिकारी मारा गया। यह घटना 1100 केव्ही विद्युत लाईन खम्भे से करंट लेने के कारण घटित हुई। शिकार की घटना में मृतक के अलावा अन्य शामिल 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है|

ज्ञात हो कि desh tv  द्वारा लगातार अपनी रिपोर्टिंग में कसडोल क्षेत्र के देवपुर सहित अन्य परिक्षेत्र में वन्य प्राणियों की करन्तयुक्त तार के फंदे से शिकार के कई मामले सामने ला चुका है|

वन विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अपने ही बिछाए करंट युक्त तार के चपेट में आने से  स्वरूप पैकरा नामक ग्रामीण की मौत हो गयी। घटना के बाद पुलिस चौकी सोनाखान थाना कसडोल द्वारा गुम इंसान रिपोर्ट पर कार्यवाही करते हुये शिकार की घटना में मृतक के अलावा अन्य शामिल 2 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।जिन्हें रिमांड पर जेल भेज दिया गया है ।

घटना के बारे में बताया जाता है कि कसडोल पुलिस थाना के पुलिस चौकी सोनाखान के अंतर्गत   31 मई को मृतक के भाई रामस्वरूप पैकरा ने चौकी आकर रिपोर्ट दर्ज कराया था कि उसका भाई स्वरूप पैकरा  29 मई  के शाम करीब 7:00 बजे घर से निकला था। जो अब तक घर वापस नहीं आया ।

पतासाजी करने पर स्वरूप पैकरा का शव जंगल जोंक नदी किनारे मृत अवस्था में मिला।जिसके शरीर में विद्युत करंट से झुलसने का निशान थे। शव से तेज दुर्गंध आ रही थी ।

इस सूचना पर मर्ग कायम कर पुलिस ने जांचमें पाया गया कि मृतक अपने साथी पुनीराम बरिहा, खीखराम कंवर के साथ एक राय होकर जंगल में शिकार करने  29-05-2021 के रात्रि 9:30 बजे जंगल में 1100 केवी हाई वोल्टेज विधुत तार में जी आई तार लगाकर शिकार करने हेतु लगाए गए तार के करंट के चपेट में आने से मौके पर ही मौत हो गई|

मृतक के साथी साक्ष्य छुपाने के लिए जी आई तार एवं बांस की खूंटी एवं डंगसी को लेकर फरार हो गए थे। आरोपियों के विरुद्ध धारा 304 ए 34 201 भादवी एवं 139 विद्युत अधिनियम कायम कर विवेचना में लिया गया ।

अब कसडोल पुलिस ने फरार आरोपियों पुनी राम बरिहा पिता धीर सिंह बरिया   और खीखराम कंवर उर्फ हंडा बैगा पिता मंगलू राम ग्राम कसौंदी को हिरासत में लेकर पूछताछ की |

आरोपियों ने जुर्म स्वीकार किया|  घटना में प्रयुक्त 4 बंडल जी आई तार 30 मीटर एल्युमीनियम तार ढाई एमएम एवं एक नग टॉर्च तथा बांस का 8 नग खूंटी जब्त कर आरोपियों को  गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया|

 पूरे जंगल क्षेत्र में चल रहे शिकार

घटना के सम्बंध में यह बता देना लाजिमी है कि  प्रदेश के अहम पर्यटन क्षेत्र देवपुर सहित आसपास के वन परिक्षेत्रों में पदस्थ वन अफसरों की लापरवाही ने इन दिनों सड़क किनारे के वन ग्रामो को वन्य प्राणियों के मांस की मंडी बना दिया  है।यहां शिकार चीतल,सांभर एवम जंगली सुअर (देखें विडिओ) का मांस प्रदेश की राजधानी सहित बड़े शहरों में ऊंचे दर पर बेचे जाने की ख़बरें आम हैं। शिकार के कई मामले पकडे जा चुके हैं जिसे desh tv  ने लगातार प्रकाशित किया है।