आज़ाद हुई अंजली…पिता से दरख़्वास्त, मान जाइए न पापा

पति इब्राहिम आर्य ने कहा खत्म करें ये लड़ाई...उसे जीने दें

रायपुर। आखिरकार अंजली को सखी सेंटर से आजादी मिल ही गई। जैसे ही अंजली सखी सेंटर से बाहर अपने पति इब्राहिम से मिली, वह उससे गले लग कर रो पड़ी। जिसके बाद अंजली ने अपने परिवार से यह दरख्वास्त की है कि जो कुछ भी हो चुका है, वे उसे स्वीकार कर ले।

अंजली ने यह भी कहा कि वह अपने पिता से रिश्ता नहीं तोड़ना चाहती और एक मर्तबा उन्हें मनाने की कोशिश वह जरूर करेंगी। सखी सेंटर से निकलने के बाद अंजली ने ये बातें मीडिया से चर्चा के दौरान कही। हालांकि अंजली ने यह भी कहा कि उनके पिता पर अब भी बदला और गुस्सा सवार है, लिहाजा उसने अपने पिता से उसकी और अपने पति इब्राहिम की जान पर खतरा बताया है।

गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने अंजली जैन प्रकरण में 15 नवंबर को सखी सेंटर से उसे उसके पति के साथ जाने क्या आदेश दिया था। इस आदेश में हाईकोर्ट ने सखी सेंटर के जिला कार्यक्रम अधिकारी को इस बात के भी निर्देश दिए थे कि अंजली की रिहाई की सूचना किसी भी माध्यम से उनके पिता / परिजनों को दी जाए। विभिन्न माध्यमों से सुचना भेजने के बाद सखी सेंटर के जिला कार्यक्रम अधिकारी ने आम सूचना जारी कर अंजली की रिहाई के लिए आज की तारीख मुकर्रर की थी।

                 तक़रीबन 9 महीने सखी सेंटर में क़ैद अंजली आज अपने पति अब्राहिम के साथ लौट गई है। इधर इस पूरे मामले के तहत सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे, वही बीते हफ्ते भर से सेंटर के 200 मीटर के दायरे में धारा 144 भी जिला प्रशासन ने लागू की थी। अंजली की रिहाई के वक़्त एसएसपी आरिफ़ शेख समेत तमाम जिला अधिकारी मौजूद थे।

अब ख़त्म करें ये लड़ाई- इब्राहिम
इधर अंजली के पति इब्राहिम ने भी मीडिया के ज़रिए इस लड़ाई को ख़त्म करने की दरख्वास्त की है। इब्राहिम ने कहा कि हम दोनों अब तक अपनी मोहब्बत के लिए लड़ कर यहाँ तक पहुंचे है। अब इस लड़ाई को ख़त्म करिए। मेरी बस यही अपील है।