गणेश हाथी के पैरों तले एक और मौत

मरवाही के गांव में हाथियों का उत्पात

बैकुंठपुर। कोरिया की सीमा से सटे बिलासपुर के मरवाही पेंड्रा के जंगल में दल से बेदखल गणेश हाथी ने फिर एक जान ले ली जबकि अन्य हाथियों के हमले में घायल एक महिला का इलाज जारी है। गणेश हाथी के पैरों तले अब तक 16 जानें जा चुकी हैं। इसे काबू और निगाह में रखने के लिए कालर आईडी भी लगाया गया है।
बताया जाता है कि मरवाही वन मंडल के बेलझिरिया गांव में मंगलवार की रात गणेश हाथी समेत 18 हाथियों के दल ने जमकर उत्पात मचाया। इस दौरान गणेश हाथी ने एक महिला को कुचल दिया जिससे महिला की मौके पर ही मौत हो गई।

1 अन्य महिला घायल
मरवाही के वनमंडलाधिकारी राकेश मिश्रा ने बताया कि मरवाही वन मंडल से अनूपपुर की ओर बढ़ चुका गणेश हाथी दुबारा इस इलाके में लौट गया। मंगलवार दोपहर बेरझिरिया के जंगल में स्थित ग्राम उसाड़ में कई झोपड़ियों को तथा फसल को नुकसान पहुंचाया। बाद में करीब रात 9 बजे एक महिला मानमति (55 वर्ष) पर दौड़ाकर हमला कियाऔर कुचलकर मार डाला। मानमति की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि अन्य हाथियों के हमले में सेमवती नामक महिला घायल हो गई। उसे मरवाही के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।

ज्ञात हो कि दंतैल हाथी गणेश ने कोरबा और धरमजयगढ़ के जंगलों में भी कई बार लोगों पर हमला किया। अब तक उसने 15 से अधिक लोगों को मार डाला है। तीन दिन पहले इसके मरवाही वन मंडल से अनूपपुर की ओर बढ़ने से स्थानीय वन कर्मचारी निश्चिन्त थे।

संबंधित पोस्ट

कोरिया : नाले पर बना दिया गोठान

लॉकडाउन से पस्त पान विक्रेता संघ कलेक्टर से मिला, मांगी इजाजत

कोरियाः एडवेंचर पार्क से पहले स्वास्थ्य

छत्तीसगढ़ : हजारों बरस पहले कोरिया के इस पहाड़ पर गिरे थे दो तारे

कोरिया का एकपंगुनी घाट, जहां हर कदम मौत को दावत

कोरिया : घासीदास राष्ट्रीय उद्यान बैकुंठपुर में दिखा लुप्तप्राय इजिप्तीयन गिद्ध

छत्तीसगढ़ : साजा पहाड़ पर बने एडवेंचर पार्क, बच जाएंगे करोड़ों

कोरिया : सोशल मीडिया पर सियासी घमासान

कोरिया : मयखाना खुलने के पहले ही टूट पड़े पीनेवाले

साधु के पास भजन सुनने आते हैं भालू

कोरिया : क्रॉस वोटिंग, निर्दलीय वेदांती तिवारी उपाध्यक्ष

कोरिया जिला पंचायत अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के लिए भारी जोड़तोड़