बैकुंठपुर को मिली कई सौगात, हवाई पट्टी, एडवेंचर पार्क को मिली मंज़ूरी

बैकुठंपुर में 88 करोड़ के विभिन्न कार्यों लोकार्पण एवं शिलान्यास

बैकुंठपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बलरामपुर जिले में रामानुजगंज के हाईस्कूल ग्राउण्ड में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होकर बलरामपुर-रामानुजगंज जिले को कई सौगात दी। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में रामचन्द्रपुर एवं रघुनाथनगर को तहसील बनाने की घोषणा, रामचन्द्रपुर में वन परिक्षेत्र कार्यालय बनाने, रामानुजगंज में वन्य प्राणी संरक्षण पार्क, बलरामपुर में लोक वन पार्क निर्माण, वाड्रफनगर से बलरामपुर तक सड़क निर्माण की घोषणा की। बैकुंठपुर में हवाई पट्टी की भी घोषणा सीएम भूपेश बघेल ने की है। केल्हारी पंचायत को तहसील का दर्जाउन्होंने इस अवसर पर 88 करोड़ 40 लाख 43 हजार रूपए के विभिन्न कार्यों लोकार्पण एवं शिलान्यास किया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जनसभा को संबोधित करते हुये दीपावली, राज्य स्थापना दिवस एवं देवउठनी पर्व की बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि जिले के विकास संबंधी कार्यों में किसी भी प्रकार की कमी नहीं आएगी एवं लोकार्पण एवं भूमिपूजन का जो कार्य आज हुआ है, विकास का यह कार्य आगे भी इसी प्रकार जारी रहेगा। उन्होंने धान खरीदी के संबंध में किसानों को आश्वस्त करते कहा कि हम धान को निर्धारित समर्थन मूल्य 25 सौ रूपये में ही खरीदेंगे। छत्तीसगढ़ के प्रत्येक व्यक्ति को ध्यान में रख कर हम सभी के लिये कार्यक्रम एवं योजनाएं बना रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने सुपोषित छत्तीसगढ़ बनाने के लिये मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, स्वस्थ छत्तीसगढ़ बनाने के लिये मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना की शुरूआत की है, जिसका लाभ प्रदेश के अंतिम व्यक्ति तक पहुंच रहा है। नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी योजना के माध्यम से हमने गौठान योजना की शुरूआत की है।

                       उन्होंने किसानों से आग्रह है कि वे अपना पैरा गौठानों में दें, ताकि गौठान में चारे की व्यवस्था भी हो जाए तथा चारे का सदुपयोग हो। दीपावली के अवसर पर गौठान के गोबर तथा मिट्टी से बने दीए दिल्ली में विक्रय के लिये भेजे गये, इसी प्रकार गोबर से बने खाद का विक्रय कर गौठान समिति को आय का साधन प्राप्त होगा। गौठान में नस्ल सुधार के माध्यम से पशुधन के विकास के साथ-साथ दुग्ध उत्पादन में भी बढ़ोतरी होगी, जिससे संबंधित क्षेत्र में दुग्ध की उपलब्धता सुनिश्चित होगी।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने मुख्यमंत्री को छत्तीसगढ़ की परम्परा, रीति-रिवाज, तीज-त्यौहार को बढ़ावा देने तथा आदिवासी नृत्य महोत्सव एवं युवा महोत्सव जैसे कार्यक्रमों के आयोजन के लिये धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं सांस्कृतिक मंत्री श्री अमरजीत भगत ने सभी अतिथियों का अभिवादन करते हुये मुख्यमंत्री के आगमन को जिले के लिये सौगात भरा होने की बात कही। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में धान का समर्थन मूल्य 25 सौ रूपये है, जो किसानों के हित में लिया गया महत्वपूर्ण फैसला है। उन्होंने नगरीय निकाय क्षेत्र में पट्टा वितरण संबंधी कार्यों के लिये मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।