Video:कुरंदी जंगल के होटल परिसर में पहुंचा हिरणों का झुंड

हिरणों का ये झुंड लंबे समय तक यहां विचरण करता रहा

धर्मेन्द्र महापात्र, जगदलपुर|माचकोट वन परिक्षेत्र के  शहर से करीब 35 किमी दूर कुरंदी के जंगल में स्थित एक निजी होटल परिसर में कल रात पहुंचे  हिरणों के झुंड को  इस तरह खुले में विचरते देखा गया|

माचकोट वन परिक्षेत्र में बड़ी संख्या में अक्सर हिरणों का झुंड दिखाई देता है । लेकिन शहर से करीब 35 किमी दूर कुरंदी के जंगल में स्थित एक निजी होटल परिसर में कल रात पहुंचे ये प्यारे मेहमान ,जिन्हें इस तरह खुले में विचरते देखना एक सुखद अनुभव है।
इस सुखद क्षण को कैमरे में कैद किया गया एक वन्य प्रेमी ने ।

हिरणों का ये झुंड लंबे समय तक यहां विचरण करता रहा । होटल प्रबंधन ने भी संवेदनशीलता दिखाई और अपनी गतिविधियां थाम लीं ।

गर्मी के दिनों में बस्तर वनांचल में ग्रामीण पारंपरिक रूप से शिकार का भी आयोजन करते हैं, जिसके तहत वे समूह बनाकर शिकार पर निकलते हैं ।

कुरंदी जंगल के होटल परिसर में रात को पहुंचा हिरणों का झुंड
शहर से करीब 35 किमी दूर कुरंदी के जंगल में स्थित एक निजी होटल परिसर में कल रात पहुंचे ये प्यारे मेहमान ,जिन्हें इस तरह खुले में विचरते देखना एक सुखद अनुभव है।इस सुखद क्षण को कैमरे में कैद किया गया एक वन्य प्रेमी ने ।

वन्य प्राणी पानी और चारे की तलाश में ग्रीष्म ऋतु में गांवों तक पहुंच जाते हैं । ये तस्वीरें सुखद तो हैं पर संवेदनशीलता बेहद जरूरी है ।

इनके संरक्षण और सम्वर्धन के साथ शिकारियों से बचाने के उपाय और व्यवस्था की जिम्मेदारी न केवल वन विभाग की है बल्कि इलाके के ग्रामीणों का सहयोग लेने की भी जरूरत है ।

बता दें महुआ का सीजन आ रहा है| ग्रामीण जहाँ महुआ बीनने सफाई के लिए आग लगा देते है वहीँ  शिकारी भी    भाग रहे वन्य जीवों का  शिकार करते हैं| हर बरस गर्मी में जंगलों में आग लगाये जाने की घटनाएँ आम हो चुकी हैं|