नक्सली का शव लेकर लौट रही पार्टी पर नक्सली हमला, एक जवान घायल

सुकमा। सुकमा जिले में पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में एसटीएफ का एक जवान मड़काम पोदीया घायल हो गया है। घायल जवान को बेहतर उपचार के लिए रेफर करने के लिये हेलीकाप्टर की नाईट लेंडिंग की तैयारी की जा रही है।
नक्सली इलाके के चिन्तलनार थाने में नाईट लेंडिंग की तैयारी में पुलिस प्रशासन जुटी हुई है। बताया जा रहा की सुबह हुई घटना के बाद जवान वापस कैंप आ रहे थे, इसी दौरान कसलपाड़ के जंगल नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। तोंडामरका के जंगल में हुई थी मुठभेड़ में मारे गये नक्सली का शव लेकर जवान कैंप लौट रहे थे। इसी दौरान नक्सलियों ने यह हमला किया है।
बतादें कि छत्तीसगढ़ में एक बार फिर नक्सली सक्रिय होने लगे हैं और उनका जमावड़ा भी बढ़ रहा है। इसके साथ ही यह सूचना भी मिल रही है कि वे कई स्थानों पर बदला लेने के लिए रणनीतिक मुहिम पर भी काम शुरू कर चुके हैं। नक्सलियों की बढ़ती सक्रियता की मिल रही सूचना पर पुलिस भी सतर्क है।
सूत्रों का कहना है कि पिछले दिनों पुलिस को यह जानकारी मिली थी कि अलग-अलग हिस्सों में बड़ी संख्या में नक्सली एकत्र हो रहे हैं, वे मेले और मड़ई के दौरान बड़ी वारदात को अंजाम देने की रणनीति पर काम कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने टैक्टिकल काउंटर अफेंसिव कैंपेन भी शुरू कर दिया है। वहीं राज्य के सुदूर इलाकों में नक्सली कैंप भी लगा रहे हैं। हालांकि इसमें किसी नक्सली का नाम अभी सामने नहीं आया है।

पुलिस महानिरीक्षक पी. सुंदर राज ने आईएएनएस से चर्चा के दौरान स्वीकार किया, “नक्सली आमतौर पर गर्मी के समय में पुलिस बल आदि पर हमला करने के मकसद से टैक्टिकल काउंटर अफेंसिव कैंपेन चलाते हैं। पुलिस इसे लेकर सतर्क रहती है। फिलहाल इसे लेकर कोई स्पष्ट सूचना नहीं मिली है, फिर भी विभिन्न मेला आदि को ध्यान में रखकर पुलिस सतर्क और चौकस है।”