सुकमा के डीआरजी जवानों पर ग्रामीणों-स्कूली बच्चों से मारपीट का आरोप

एसपी सुकमा केएल ध्रुव ने कहा कि ग्रामीण नक्सलियों के दबाव में ये आरोप लगा रहे हैं

धर्मेन्द्र महापात्र, जगदलपुर | दंतेवाडा जिले के काकारी और नहाड़ी गांव के ग्रामीणों और छात्रों ने सुकमा के डीआरजी के जवानों पर मारपीट का आरोप लगाया है। आरोप है कि महिलाओं और बच्चों से भी मारपीट की गई|  मामले में एसपी सुकमा केएल ध्रुव ने कहा कि ग्रामीण नक्सलियों के दबाव में ये आरोप लगा रहे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार सुकमा से दंतेवाड़ा गस्त में आये DRG के जवानों पर काकारी और नहाड़ी गांव के ग्रामीणों और स्कूली छात्र – छात्राओं ने मारपीट का आरोप लगाया है|कैमरे के सामने ग्रामीणों और पीड़ित ही नहीं छोटे-छोटे बच्चों ने भी पिटाई की बात कही है|

इसके अलावा ग्रामीणों ने लूटपाट कर सामान मुर्गे और नगद ले जाने का भी आरोप लगाया है।

एसपी सुकमा केएल ध्रुव ने इस आरोप को  खारिज करते हुए कहा कि दरअसल नक्सलियों ने यहां जन अदालत लगाकर पुलिस मुखबिरी के सन्देह में महिलाओं और बच्चों की पिटाई की थी। इस दौरान मुठभेड़ भी हुई थी और आईईडी ब्लास्ट में एक जवान घायल भी हुआ था ।

एसपी ने कहा, नक्सलियों के खिलाफ चल रहे अभियानों से हो रहे नुकसान से नक्सली बौखलाए हुए हैं। ऐसे में दबाव बनाकर वे ग्रामीणों से इस तरह के आरोप लगवा रहे हैं।

एसपी ने कहा कि पुलिस कम्युनिटी पुलिसिंग के जरिये लोगों का भरोसा कायम करने के दौरान इस तरह की हरकतें जवान नहीं कर सकते|

नक्सलियों की हिंसा और क्रूरता से अवगत कराने और सामुदायिक पुलिसिंग के जरिये गांव वालों की हर सम्भव मदद कर उनका भरोसा जीत रहे हैं।

बता दें सुकमा और दंतेवाड़ा की संयुक्त टीम  नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर सर्चिंग के लिए निकली थी। शुक्रवार को  सुकमा-दंतेवाड़ा बॉर्डर पर नहाड़ी के जंगल में  घात लगाए नक्सलियों ने हमला कर दिया।  इस दौरान आईइडी ब्लास्ट की चपेट में आकर सुकमा DRG का जवान घायल हो गया।