सीआरपीएफ-पुलिस के आला अफसरों ने बुर्कापाल कैंप पहुँच जवानों का हौसला बढ़ाया

शहीद नितिन भालेराव असिस्टेंट कमांडेंट 206 वाहिनी कोबरा को दी श्रद्धांजलि

धर्मेन्द्र महापात्र, जगदलपुर|आज सीआरपीएफ डीजी ए पी माहेश्वरी, कुलदीप सिंह एसडीजी सेंट्रल जोन सीआरपीएफ, एसडीजी छत्तीसगढ़ नक्सल ऑपरेशन अशोक जुनेजा एवं सीआरपीएफ तथा छत्तीसगढ़ पुलिस के अन्य वरिष्ठ अधिकारी बुर्कापाल कैम्प पहुंचे|

जहां पर सभी अधिकारियों ने ताड़मेटला में आईईडी ब्लास्ट में शहीद नितिन भालेराव असिस्टेंट कमांडेंट 206 वाहिनी कोबरा को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। कैंप में उपस्थित सभी अधिकारियों एवं जवानों द्वारा अमर शहीद की याद में 2 मिनट का मौन रखा गया।

पश्चात डीजी सीआरपीएफ तथा एसडीजी नक्सल ऑपरेशन छत्तीसगढ़ द्वारा बुर्कापाल कैंप में उपस्थित 206 कोबरा, सीआरपीएफ 150, एसटीएफ तथा डीआरजी के जवानों से बातचीत कर उनका मनोबल बढ़ाया।

इस दौरान आईजी बस्तर सुंदर राज पी ,डीआईजी सुकमा योज्ञान सिंह ,पुलिस अधीक्षक सुकमा केएल ध्रुव, सीआरपीएफ तथा पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी गण तथा जवान उपस्थित रहे।

बता दें कि शनिवार को बस्तर के सुकमा जिले  के ताड़मेटला इलाके के बुर्कापाल से 6 किलोमीटर दूर ऑपरेशन से लौट रहे कोबरा 206 बटालियन के जवानों पर नक्सलियों ने आईईडी से हमला कर दिया| ब्लास्ट में 2 अफसरों सहित 10 जवान जख्मी हो गये थे| जिन्हें रात में ही एयर लिफ्ट कर रायपुर रिफर किया गया.घायलों में से एक असिस्टेंट कमांडेंट नितिन भालेराव शहीद हो गये| 

बताया जाता है कि नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना पर बुरकापाल,तेमलवाड़ा और चिंतागुफा से ज्वाईंट आपरेशन चलाया गया| देर शाम को ताड़मेटला के जंगल में गश्त करते हुए जवान आगे बढ़ रहे थे कि इस दौरान जवान स्पाइक होल व आईईडी की चपेट में आ गये|

बता दें कि नक्सलवाद को खत्म करने अब केंद्र और राज्य सरकार मिलकर एक बड़ी योजना बनाने में जुट गए है.खात्मे के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर 5 बटालियन की मांग भी की है|

इसी के मद्देनजर हाल ही में केंद्रीय सुरक्षा सलाहकार विजय कुमार अपने दो दिवसीय प्रवास पर बस्तर पहुंचे थे| सुकमा और बीजापुर में सुरक्षा से जुड़े अधिकारियों की बैठक लेने के बाद जगदलपुर के कोर्डिनेशन सेंटर में सातों जिलो के एसपी सहित बस्तर आईजी और छत्तीसगढ़ के विशेष पुलिस महा निरीक्षक अशोक जुनेजा सहित सीआरपीएफ के आला अधिकारियों की बड़ी बैठक ली थी|