बस्तरः नारायणपुर के करियामेटा  सीएएफ कैंप पर नक्सल हमला, जवान शहीद

शहीदी सप्ताह से ठीक एक दिन पहले वारदात

धर्मेंन्द्र महापात्र, जगदलपुर। छ्त्तीसगढ के बस्तर संभाग के नारायणपुर के करियामेटा इलाके में नक्सलियों ने आज सुबह छ्त्तीसगढ आर्म फोर्स के करियामेटा कैम्प पर हमला कर दिया है। पिछले 2 घंटों से नक्सली कैम्प पर रुक  रुककर फायरिंग कर रहे हैं।  प्रारंभिक जानकारी के अनुसार नक्सलियों के इस हमले में छ्त्तीसगढ आर्म्ड फोर्स के एक जवान के शहीद होने की सूचना है।

मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह 8: 30 बजे के करीब नक्सलियों सैकड़ो हथियार बंद नक्सलियों ने अचानक कैम्प पर धावा बोल दिया। सीएएफ का यह कैम्प दंतेवाड़ा और नारायणपुर के बीच घनघोर जंगल में बारसूर पल्ली मार्ग पर स्थित है। समाचार लिखे जाने तक दोनों ओर से फायरिंग की खबर थी।

विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा की जा रही है।

बता दें कि नक्सली मंगलवार 28 जुलाई से शहीदी सप्ताह मना रहे हैं। इसके पहले कल ही बीजापुर जिले के बासागुड़ा इलाके में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है। जवानों को नुकसान पहुंचाने के लिए नक्सलियों ने पुल के पास 40 किलो का आईईडी बम लगा रखा था, जिसे जवानों ने सूझबूझ दिखाते हुए बरामद कर दूर जंगल में निष्क्रिय कर दिया।

पुलिस को सूचना मिली थी कि बासागुड़ा-तर्रेम मार्ग पर माओवादियों ने शहीदी सप्ताह के 3 दिन पहले पुलिस पार्टी को नुकसान पहुंचाने के लिए 40 किग्रा का आईईडी लगाया है। इसके बाद थाना बासागुड़ा से जिला पुलिस बल, कोबरा 204, केरिपु 168 बटालियन की संयुक्त टीम मौके के लिए निकली।

सारकेगुड़ा-पेगड़ापल्ली के मध्य सारकेगुड़ा से 1 किमी आगे पुल के समीप मार्ग के बीचो-बीच प्लास्टिक डिब्बे में 40 किलो ग्राम का कमांड आईईडी बम बरामद किया. जिसे बीडीएस टीम ने निष्क्रिय किया।