बस्तर: बीजापुर-सुकमा में दो आरक्षक की गोली मार ख़ुदकुशी

दोनों जवानों के मानसिक तनाव के चलते यह कदम उठाया जाना बताया जा रहा

धर्मेन्द्र महापात्र, जगदलपुर| बस्तर संभाग के बीजापुर और सुकमा जिले में दो आरक्षक ने अपनी सर्विस रायफल से गोली मार ख़ुदकुशी कर ली| पहली नजर में इन दोनों जवानों के मानसिक तनाव के चलते यह कदम उठाया जाना बताया जा रहा है|

मिली जानकारी के अनुसार बीजापुर जिले पामेड़ थाना में पदस्थ आरक्षक विनोद पोर्ते ड्यूटी के बाद थाना परिसर के अंदर अपने आप को गोली मार ली|

बताया जा रहा है कि आरक्षक कुछ दिनों से मानसिक तनाव में चल रहा था|

मृतक जवान विनोद पोर्ते

मृतक जवान विनोद पोर्ते बिलासपुर के पाली ब्लॉक के सिरसा गांव का रहने वाला था|  ज़िला चिकित्सालय में पोस्टमार्टम के बाद जवान के शव को भेजा गृहग्राम रवाना किया जायेगा|

उधर सुकमा जिले में आज सुबह करीब 8.50 दिनेश वर्मा पिता बंशीलाल वर्मा नामक जवान ने अपने कमरे में अपनी सर्विस रायफल से खुद को गोली मार जान दे दी|

मिली जानकारी के अनुसार शांति नगर भिलाई का रहने वाला देवेन्द्र  वर्मा सीएएफ की 4 बटालियन का जवान था । सुकमा एसपी के एल ध्रव ने घटना की पुष्टि की है ।

इस संबंध में अभी विस्तृत ब्यौरा नहीं मिल सका है|

देवेन्द्र वर्मा

बता दें कि नक्सल प्रभावित सुकमा, बीजापुर और दंतेवाडा जिले में पदस्थ जवानों के गोली मार खुद्कुशी की  घटनाएँ  सरकार के  लिए एक चुनौती बनी हुई है|

एक सप्ताह पहले दंतेवाडा के गीदम थाना के कारली में तैनात  दीनबंधु सोलंकी नामक एक जवान ने  अपनी सर्विस रिवाल्वर  से ख़ुदकुशी कर ली थी|

इसके पहले अक्तूबर में सुकमा के दोरनापाल  crpf कैंप में तैनात कमलकांत रोहीदास नामक जवान ने खुद को गोली मार जान दे दी थी|वह ओडिशा के झास्सुगुदा का निवासी था और   छुट्टी से लौटा था | घर से आने के बाद से ही वह गुमसुम रहा करता था| साथी जवानों की बातों को भी अनसुना करता था|