आधी रात चाय, डॉक्टरों को दौड़ा-दौड़ा कर मारा

सिम्स के डॉक्टरों को दबंगई दिखाना पड़ा महंगा

बिलासपुर। रात को दो बजे चाय पीने के लिए मगरपारा एक चाय की स्टाल पर महिला से गाली-गलौच करना सिम्स के जूनियर डॉक्टरों को महंगा पड़ गया। मोहल्ले वालों ने उन्हें दौड़ा-दौड़ा कर लकड़ी, ईंट, पत्थरों से घायल कर दिया। दो डॉक्टरों के सिर पर भी चोट आई है। हमलावरों के खिलाफ पुलिस ने बलवा का जुर्म दर्ज किया है। जानकारी के मुताबिक सिम्स के जूनियर डॉक्टर जितेन्द्र गिल और राकेश अग्रवाल चाय पीने के लिए रात को दो बजे मगरपारा पहुंचे थे। उन्होंने अपनी बाइक ठेले से लगाकर खड़ी कर दी। इस पर चाय स्टाल संचालक महिला फरीदा बेगम और उसके परिवार के सदस्यों ने गाड़ी को दूर खड़ी करने के लिए कहा।

              डॉक्टरों ने उनसे गाली-गलौच कर दी। इसके बाद विवाद बढ़ गया। डॉक्टरों ने फोन करके अपने साथी डॉक्टर सचिन गुप्ता को बुला लिया। इधर मगरपारा के आठ दस लोग जवाब में खड़े हो गये। डॉक्टरों ने फोन करके फिर और साथी डॉक्टरों को बुला लिया। तब डॉ. सुरेन्द्र जाट, डॉ. युगल किशोर नंदे सहित दो तीन और जूनियर डॉक्टर वहां पहुंच गये। डॉक्टर उन्हें गालियां देते हुए देख लेने की धमकी देने लगे। तब मगरपारा के सलमान सहित दर्जन भर युवकों ने उन्हें घेर लिया और उनको बैट, स्टिक से पीटने लगे तथा पत्थर से भी उन पर हमला किया गया। स्थिति बिगड़ते देख सभी डॉक्टर वहां से भाग खड़े हुए। उन्होंने सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ विभिन्न धाराओं 147, 148, 294, 323, 336, 506 के तहत जुर्म दर्ज किया है। दो जूनियर डॉक्टर सिम्स में भर्ती कराये गए हैं, जिनको सिर पर चोट लगी है।