Corona Update : छह सेक्टरों में बटा कोरबा, बाहर गए तो सीधे FIR

बढ़ रही कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या के बाद बढ़ी कड़ाई

 
कोरबा। कोरबा के कटघोरा में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों के मद्देनजर अब जिला प्रशासन ने पूरी सख्ती बरत रहा है। अनावश्यक घूमने फिरने वालों से निपटने के लिए और पुलिस बल को अधिक कड़ाई आज से देखी जा रही है। बेकाम सड़कों पर घूमने निकले किसी भी महिला पुरूष या युवक-युवती के विरूद्ध अब लॅाक डाउन का उल्लंघन करने पर सीधे थानों में एफआईआर की तैयारी है।

कोरबा कलेक्टर किरण कौशल ने राजस्व, पुलिस और नगर निगम के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुला कर इस संबंध ने दिशा निर्देश दिए है। साथ ही कोरोना वायरस के शहर में फैलाव को रोकने के लिए जरूरी मंत्रणा भी की है। उन्होंने शहर में कोरोना के नियंत्रण के लिए लोगों को लॅाक डाउन का शत प्रतिशत पालन करने की अपील की है। साथ ही अधिकारियों को लॅाक डाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं।

छह सेक्टरों में बटा कोरबा
कलेक्टर किरण कौशल ने कोरबा शहर को छह सेक्टरों में बांटकर लॉक डाउन को और कड़ा करने एहतिहातन कदम उठाए है। प्रत्येक सेक्टर को एक दूसरे से पृथक रखने के लिए बैरिकेटिंग किये गए हैं। एक सेक्टर को दूसरे सेक्टर से जोड़ने वाली सभी सड़को को पूरी तरह से बंद कर दिया जाये। इंटर सेक्टर आवागमन को रोकने के लिए हर जरूरी इंतजाम किये जायें।

                            मेडिकल स्टोर्स, राशन, सब्जी बाजार आदि अति आवश्यक सेवाओं के लिए सेक्टर में ही व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। सेक्टरों को इस तरह से बांटा गया है कि उनमें अति आवश्यक सेवाओं की दुकानें पर्याप्त संख्या में रखा गया है, ताकि प्रशासन द्वारा निर्धारित समय में भी एक सेक्टर के लोग इन चीजों के लिए दूसरे सेक्टर में न जायें। कलेक्टर ने किसी भी स्थिति में सेक्टर से बाहर जाने वाले लोगों पर कार्यवाही करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं।

कारखानों और खदानों को करनी होगी व्यवस्था
कलेक्टर कौशल ने लंबी दूरी तय करके कारखानों तथा खदानों तक आने वाले कामगारों और अधिकारी-कर्मचारियों के ठहरने के लिए सभी औद्योगिक संस्थानों को अपनी टाउनशिप, कालोनी या नजदीकी आवासीय परिसर में व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने यह भी कहा कि इन आवासीय परिसरों में रहने वाले सभी लोगों को सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध रहें। ऐसे कामगारों का भी इंटर सेक्टर आवागमन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा।

सेक्टर के अंदर भी कामगारों को कारखानों या खदानों में काम के लिए जाते समय अपना कोई भी पहचान पत्र साथ रखना होगा और रास्ते में पुलिस कर्मियों द्वारा पूछे जाने पर पहचान पत्र दिखाना होगा। एक सेक्टर में रहने वाले किसी कामगार के दूसरे सेक्टर में स्थित फैक्टरी या खदान में जाने पर भी पुलिस द्वारा वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।

ग्रामीण स्तर पर विकासखंड का होगा विभाजन
कलेक्टर किरण कौशल ने जिले के पांचों विकासखंडो को भी अलग-अलग सेक्टरों में विभक्त करने के निर्देश जारी किये हैं। विकासखंड कोरबा एवं करतला को पांच-पांच सेक्टर, कटघोरा को दो से तीन सेक्टर, विकासखंड पाली एवं पोड़ीउपरोड़ा को छः-छः सेक्टरों में बांटा जायेगा।

इन सेक्टरों में बाहर से आने वाले लोगों की निगरानी सहित कोरोना के फैलाव के लिए जारी किये गये सरकारी दिशा निर्देशों का पालन कराने सेक्टर आफिसर भी नियुक्त किये जायेंगे। इन सेक्टरों में भी यथा संभव घर पहुंच सामाग्री सेवा लागू की जायेगी। इससे लागडाउन की छूट अवधि में बढ़ने वाले आवागमन को नियंत्रित किया जा सकेगा एवं ग्रामीण क्षेत्रों में छूट की अवधि पर अनावश्यक आवागमन पर रोक लगेगी।

संबंधित पोस्ट

कोरोना चेन को रोकने 6 अगस्त तक बढ़ाया गया राजधानी में लॉकडाउन

छत्तीसगढ़ में कोविड-19 की रिकवरी दर पड़ोसी राज्यों से बेहतर, मृत्यु दर भी सबसे कम

CORONA UPDATE : वैश्विक आंकड़ा 70.97 लाख पार, 4.6 लाख से अधिक मौतें

CORONA UPDATE : वैश्विक आंकड़ा 70 लाख के पार, 4 लाख से अधिक मौतें

Corona Update: दुनियाभर में कोरोना मरीज 62 लाख पार

Corona Update: दुनिया में 7वां सर्वाधिक कोरोना प्रभावित देश बना भारत

Corona Update : दुनिया में संक्रमण 61 लाख के पार, 3.71 लाख से अधिक मौतें

Corons Update : Chhattisgarh में 32 नए मामले आने के बाद कुल मामले 376 हो गए

Corona Update : लॉकडाउन के बीच पार्टी कर बेल्जियम के प्रिंस हुए कोविड संक्रमित

Corona Update : कोरिया मे 20 कोरोना पॉजिटिव सामने आए

Corona Update : दुनिया में पैर पसार रहे संक्रमण से पीड़ितों की संख्या 60 लाख के पार

Corona Update : छत्तीसगढ़ में एक दिन में एक दर्जन नए मामले, आंकड़ा 298 पर