भाजपा प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल से की भूपेश सरकार की शिकायत

वैक्सीन लगाने की कार्ययोजना पर सरकार के पास जवाब नहीं-रमन

रायपुर | छत्तीसगढ़ भाजपा का एक प्रतिनिधि मंडल आज प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के नेतृत्व में प्रदेश के राज्यपाल अनुसुईया उइके से मुलाकात की है। प्रतिनिधि मंडल में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह सहित सांसद विधायकों ने राज्यपाल के साथ राज्य सरकार के क्रियाकलापों पर चर्चा की। प्रदेश का प्रमुख विपक्ष दल भाजपा राज्य सरकार से प्रदेश में चल रहे वैक्सीनेशन पर मिलना चाहा था।  लेकिन सरकार ने वर्चुअल मीटिंग की सहमति जताई जिसे विपक्ष ने सिरे से नकार दिया। विपक्ष आमने सामने बैठकर बात करना चाह रहा है। 

सरकार द्वारा बैठक को दरकिनार किये जाने की जानकारी आज भाजपा राज्यपाल को देने राजभवन पहुंची थी। राजयपाल से शिकायत भरे लहजे में विपक्ष ने कहा कि कोरोना को लेकर प्रदेश के मुखिया के पास विपक्ष को सुनने का वक़्त नहीं है। वर्चुअल बैठक की बात कह कर सरकार विपक्ष का अपमान भी किया है। राज्यपाल से भाजपा ने आग्रह किया कि वे सरकार के कार्ययोजना पर बात करें। 

रमन का भूपेश पर सीधा हमला 

राज्यपाल से मुलाकात के बाद मीडिया से चर्चा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ने कहा कि राज्यपाल को सरकार के मुखिया का व्यवहार बताया गया है। 1 करोड़ 30 लाख वैक्सीन लगने है लेकिन कार्ययोजना नदारद है। विपक्ष जानना चाहता हैं कि वैक्सीन निर्माता कंपनियों को कितना भुगतान किया गया,टीकाकरण पर सरकार की क्या कार्ययोजना है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार वैक्सीनेशन को भी वर्गों में बांटकर लोगों के साथ सीधे तौर पर खिलवाड़ कर रही है। APL  राशन कार्ड आम लोगों के पास मौजूद नहीं होने के कारण उन्हें टीका नहीं लग पा रहा है। सरकार के पास शराब का 600 करोड़ सेस है. 800 करोड़ दूसरे मद का है। जब देश के दूसरे राज्य खर्च कर रहे हैं, तो फिर सरकार को खर्च करने में दिक्कत क्या है। लेकिन सरकार कुछ कहने तैयार ही नहीं है। रमन सिंह ने तो सरकार को शराब की होम डिलीवरी पर भी घेरा। उन्होंने कहा कि  सरकार के पास शराब का 600 करोड़ सेस के साथ ही 800 करोड़ दूसरे मद का भी है। तो राज्य सरकार को खर्च करने में पीछे क्यों हट रही है,ये समझ से परे है।

वर्चुअल बैठक नहीं-साय 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि संगठन के कार्यक्रम सेवा की संकल्प के जरिये बीजेपी जरूरतमंदों तक मदद पहुँचा रही है। हम सरकार से मिलकर जरूरी सुझाव देते, लेकिन सरकार वक़्त देने में कटरा रही है। उन्होंने साफ़ तौर पर कहा कि भजपा वर्चुअल बैठक में कतई शामिल नहीं होगी।

निर्लज्ज और डरपोक सरकार-बृजमोहन 

पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि सरकार फेस टू फेस मिलने से डर रही है। हम सरकार को सहयोग करने के लिए सुझाव देने और जानकारी लेने जाना चाहते थे, लेकिन ये डरपोक सरकार है, जो विपक्ष से मिलने में डरती है। ये सरकार निर्लज्ज हो गई है। ऐसी सरकार को एक मिनट भी सत्ता में रहने का अधिकार नहीं है।

भाजपा के इस प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश अध्यक्ष साय के अलावा भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, पूर्व मंत्री द्वय बृजमोहन अग्रवाल व अजय चंद्राकर, संसद सदस्य सुनील सोनी, विधायक शिवरतन शर्मा और रायपुर शहर ज़िला भाजपा अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी शामिल रहे।

संबंधित पोस्ट

छत्तीसगढ़ का वर्चुअल योग मैराथन गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रदेश में 10 लाख से अधिक लोग करेंगे योग

कोविड की संभावित तीसरी लहर से पहले छत्तीसगढ़ सरकार की जोर आजमाइश शुरू

18+में हो रही वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की त्रुटियों में CMHO करेंगे सुधार

पड़ोसी राज्यों में बढ़ते कोरोना मामलों से छत्तीसगढ़ में सावधानी जरूरी

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को ‘छत्तीसगढ़ वर्चुअल योग मैराथन’ का होगा आयोजन

गोधन न्याय योजना अंतर्गत गोबर विक्रेताओं को 3.07 करोड़ की राशि अंतरित

नियमित रूप से संचालित हो रही है अम्बेडकर अस्पताल की ओपीडी

छत्तीसगढ़ सरकार ने बदले कई IAS के प्रभार,रायपुर कलेक्टर होंगे सौरभ कुमार

GOM में कांग्रेस शासित राज्य के सदस्यों को शामिल नहीं करना दुर्भाग्यपूर्ण-CM बघेल

राज्य सरकार देगी कक्षा 8वीं तक 500 और 12वीं तक 1 हजार प्रति माह की छात्रवृत्ति

छत्तीसगढ़ के समग्र विकास हेतु उपाय सुझाने के लिए टॉस्क फोर्स गठित