Breaking News : CM भूपेश की अफ़सरों को ताक़ीद, जितनी जरुरत उतना ही लगाए शामियाना

प्रवास के दौरान शामियाना और मंच पर खर्च रोकने दिए निर्देश

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने एक बार फिर खर्च को लेकर अफसरों को हिदायत दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सरकारी आयोजनों में ज्यादा तामझाम करने और बेजा खर्च को रोकने के लिए कहा है। सीएम भूपेश ने मुख्य सचिव आर पी मंडल से इस संबंध में चर्चा कर उन्हें निर्देशित किया है कि वह बाकी विभागों को इस संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश जारी करें।

भूपेश ने यह कहा है कि विभिन्न क्षेत्रों के प्रवास के दौरान कार्यक्रम स्थल की साज-सज्जा, मंच आदि निर्माण में ज़रूरत से ज़्यादा राशि खर्च किया जा रहा है, जिन्हें रोकने के लिए उन्होंने कहा है। बघेल ने सीएम मंडल को केवल आवश्यकता अनुसार ही मंच निर्माण, बैठक व्यवस्था आदि करने के निर्देश दिए है वो भी सादगी के साथ। भूपेश ने कहा कि जितनी जरूरत हो उतनी ही व्यवस्था की जाए, जबरिया आडंबर करने की किसी भी प्रकार की जरूरत नहीं है।

गौरतलब है कि भूपेश बघेल ने इसके पहले भी राज्य सरकार के अधिकारियों को खर्च कम करने के लिए हिदायत दी थी। सरकारी आयोजनों में विभिन्न तरह से मितव्ययिता बरतकर आयोजन को संपन्न करने के लिए भूपेश ने निर्देशित किया था। इतना ही नहीं उन्होंने खुद अपने ही काफ़िले में चलने वाली गाड़ियों की संख्या को भी घटा दिया था। यह दूसरी दफा है जब मुख्यमंत्री ने अपने ही आयोजन और कार्यक्रमों में ज्यादा तामझाम नहीं करने की ताकीद अफसरों को दी है।

संबंधित पोस्ट

नक्सल प्रभावित इलाकों में आदिवासियों पर दर्ज़ 215 प्रकरण हुए वापस

सीएम हाउस में हुई भूपेश कैबिनेट की बैठक

लोकवाणी : स्वाभिमान, अस्मिता और नई ऊर्जा से प्रारंभ हुआ आगे बढ़ने का नया दौर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बॉयो-एथेनॉल के लिए नीति आयोग को लिखा पत्र

छत्तीसगढ़ में आज है अन्न दान का महापर्व छेरछेरा

सूबे के आकांक्षी जिलों में खस्ता हाल बैंक सुविधा…भड़के सीएस मंडल

छत्तीसगढ़ खेल विकास प्राधिकरण का गठन

भक्त राजिम माता जयंती पर सीएम की सौगात, मेला स्थल में बनेगा राजिम माता भवन

सीएम भूपेश के निर्देश – वेंटिलेटर, आई.सी.यू. और ऑपरेशन थेएटर रखें अपडेट

नाचा नाटक खेल और चित्रकला से सजेगा “युवा महोत्सव 2020”

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए नाम निर्देशन का सिलसिला जारी

छत्तीसगढ़ विधानसभा के सेंट्रल हाल में महान विभूतियों के तैलचित्र का अनावरण