बाबरी मस्जिद विध्वंस पर आये फैसले पर छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता प्रसन्न

28 वर्ष बाद न्याय की हुई जीत

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई ने बुधवार को विशेष सीबीआई अदालत द्वारा अयोध्या मामले में दिए फैसले पर प्रसन्नता व्यक्त किया है। भाजपा ने कहा कि इस फैसले से यह एक बार फिर सिद्ध हुआ है कि सत्य को कुछ समय के लिए परेशान तो किया जा सकता है, लेकिन पराजित क़तई नहीं किया जा सकता। पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, पूर्व केंद्रीय मंत्रियों डॉ. मुरलीमनोहर जोशी, साध्वी उमा भारती के साथ ही विनय कटियार, साध्वी ऋतम्भरा सहित भाजपा के वरिष्ठ नेताओं व संत-समाज को आरोपमुक्त किए जाने पर प्रसन्नता व्यक्त कर इसे न्याय की जीत बताया है।

कांग्रेस की तुष्टिकरण पर करारा प्रहार है-साय
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने बाबरी ढाँचा गिराए जाने के मामले में विशेष सीबीआई अदालत के फैसले का स्वागत किया हैं। उन्होंने भाजपा नेताओं को इस मामले में आरोपमुक्त किये जाने पर हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि हम प्रारम्भ से ही कहते रहे हैं कि हमारे नेताओं पर लगाये गए तमाम आरोप ग़लत और बेबुनियाद हैं। साय ने केंद्र की तत्कालीन कांग्रेस सरकार पर दुर्भावना से मुकदमे दर्ज कराने का आरोप लगाया और कहा कि हमें देश की न्याय-व्यवस्था और संविधान पर पूर्ण विश्वास रहा है जिसका परिणाम आज सत्य की जीत के रूप में आया है। वास्तव में आज दूध का दूध और पानी का पानी हो गया। यह कांग्रेस की तुष्टिकरण की राजनीति पर न्याय और सत्य का करारा प्रहार है।

नेताओं व साधु-संतों ने उकसाने या ढाँचा ढहाने की बात नहीं की-डॉ.रमन
भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विवादास्पद ढाँचा ढहने के मामले में 28 साल तक चली लंबी सुनवाई के बाद आए इस ऐतिहासिक फैसले ने स्पष्ट कर दिया है कि वहां मौज़ूद भाजपा नेताओं, साधु-संतों ने कोई उकसाने वाली या ढाँचा ढहाने की बात नहीं की थी। जो ढाँचा ढहा, वह परिस्थितिजन्य प्रतिक्रिया थी। विशेष सीबीआई अदालत के फैसले से न्याय और सत्य की जीत हुई है। राम मंदिर निर्माण जो कोटि-कोटि भारतीयों की भावनाओं से जुड़ा विषय था और अब जिसका निर्माण कार्य शुरू हो चुका है, उस मामले में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को जो अभियुक्त बनाया गया था, उसमें कोई आरोप सिद्ध नहीं हो पाया। निश्चित रूप से यह फैसला स्वागत योग्य है और इस आंदोलन से जुड़े रहे सभी लोग बधाई व अभिनंदन के पात्र हैं।

सत्य और न्याय की जीत-कौशिक
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि अयोध्या के बाबरी ढाँचे मामले में सीबीआई कोर्ट के बुधवार को आए फैसले का हम स्वागत करते हैं। वास्तव में यह सत्य, न्याय की जीत है। जिस तरह से अयोध्या में वह विवादित बाबरी ढाँचा धराशायी हुआ, उस परिप्रेक्ष्य में वहाँ मौज़ूद सभी वरिष्ठ भाजपा नेताओं व साधु-संतों ने उपस्थित कारसेवकों को ऐसी किसी गतिविधि को करने से रोका था, बावज़ूद इसके झूठे मामले दर्ज कर उन्हें आरोपी बनाया गया। एक लंबी क़ानूनी प्रक्रिया और सारे तथ्यों के सामने आने के बाद आज यह ऐतिहासिक फैसला आया है। श्री कौशिक ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यह साफ हो गया था कि रामजन्मभूमि पर मंदिर तोड़कर बाबरी मस्ज़िद बनाई गई थी। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का समूचे देश ने स्वागत किया था और आज भी इस निर्णय का हम सभी स्वागत करते हैं।

भाजपा नेताओं पर हुए थे झूठे मामले दर्ज-सरोज
सांसद (राज्यसभा) डॉ. सरोज पांडे ने विशेष सीबीआई अदालत के फैसले को कोटि-कोटि भारतीयों व कारसेवकों की भावनाओं की जीत बताते हुए कहा कि यह फैसला इस तथ्य को रेखांकित करता है कि तुष्टिकरण की सांप्रदायिक राजनीति कर न केवल भाजपा नेताओं पर झूठे मामले दर्ज किए गए, अपितु लोकतांत्रिक ढंग से चुनी गईं भाजपा शासित चार राज्यों की तत्कालीन सरकारों को रातो-रात असंवैधानिक रूप से बर्ख़ास्त किया गया था। सरोज पांडेय ने कहा कि असत्य का शोर चाहे जितना मचाया जाए, भ्रम के सारे धुंधलकों को चीरकर सत्य खामोश रहकर अपने प्रखर आलोक से दुनिया को जगमग करता है। श्रीराम मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट और अब झूठे मुकदमों के मामलों में भाजपा नेताओं व साधु-संतों की आरोपमुक्ति से जुड़े सीबीआई अदालत के फैसले ने लोगों की न्याय-व्यवस्था में आस्था को दृढ़ किया है और दोनों फैसले भारत को एक सर्वधर्म समभाव के तत्व-चिंतन से बांधने का काम करेंगे।

फ़ैसले से जनमानस का सम्मान और अधिक बढ़ा-नेताम
सांसद (राज्यसभा) रामविचार नेताम ने विशेष सीबीआई अदालत के बुधवार को आए फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि भाजपा शुरू से ही इस मामले में साफ-साफ कहती आई है कि ये मामले झूठे और तुष्टिकरण की राजनीति का परिणाम हैं। भाजपा के जिन नेताओं पर ये झूठे मुकदमे दर्ज किए गए थे, वे भारतीय राजनीति में CGमर्यादा और मूल्यों के प्रति समर्पित आस्था के प्रतीक रहे हैं और किसी भी तरह की विध्वंसक गतिविधि को प्रोत्साहित करके राजनीति को ग़लत दिशा देने की प्रवृत्ति के ख़िलाफ़ रहे हैं। नेताम ने कहा कि बुधवार को सीबीआई अदालत के नीर-क्षीर निर्णय से भारतीय न्याय व्यवस्था के प्रति जनमानस का सम्मान और अधिक बढ़ा है।

संबंधित पोस्ट

Video:मोदी सरकार के सात साल पर प्रदेश भाजपा का ‘सेवा ही संगठन’ महाअभियान

Video:न्याय योजना पर भाजपा ने तरेरी आंखे,कौशिक ने सरकार को कहा किसान विरोधी

भाजपा प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में राजनैतिक प्रस्ताव सहित कई मुद्दों पर बनी रणनीति

नेता प्रतिपक्ष कौशिक का आरोप,प्रदेश में चल रहा अवैध शराब का अलग मंत्रालय

Video:किसान आत्महत्या मामले में नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने किया तोरला गांव का दौरा

विधानसभा में छत्तीसगढ़ कृषि उपज मंडी (संशोधन) विधेयक 2020 ध्वनिमत से पारित

बाबरी मस्जिद विध्वंस पर फैसले के लिए लखनऊ तैयार, राज्य भर में हाई अलर्ट

Video : हांथों में रोटी लिए विद्या मितान शिक्षकों का भूख हड़ताल शुरू, नियमितीकरण है मांग

पूर्व CM रमन सिंह हुए कोरोना संक्रमित, पॉजिटिव आने के बाद ट्वीट कर दी जानकारी

छत्तीसगढ़ में एक्टिव केस बढे और रिकवरी कम हुए,प्रदेश में 15 दिन का हो लॉकडाउन-कौशिक

Video:चयनित व्याख्याताओं पर अपराध पंजीबद्ध होने भाजपा का सरकार पर तंज

Video : कांग्रेस का आरोप,भाजपा में चरमसीमा पर पहुंची गुटबाजी