छत्तीसगढ़ सरकार की प्रशासनिक सर्जरी, PCCF बदले गए, 4 DFO का भी तबादला

रायपुर। छत्तीसगढ़ में करीब पखवाड़े भर मे एक के बाद एक आधा दर्जन हाथियों की मौत के बाद आज राज्य सरकार ने बड़ी प्रशासनिक सर्जरी की। भारतीय वन सेवा के 9 अफसरों का तबादला करते हुए प्रभार बदले गए। पी.वी. नरसिंहराव को प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यप्राणी) की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बैकुंठपुर, बलरामपुर, धरमजयगढ़ और केशकाल के डीएफओ बदले गए हैं।

राज्य सरकार ने PCCF अतुल शुक्ला का प्रभार बदलकर डायरेक्टर वन अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान किया गया है।

राज्य सरकार द्वारा जारी तबादला आदेश इस प्रकार है-पीसीसीएफ (वन्यप्राणी) अतुल शुक्ला को पीसीसीएफ (राज्य वन अनुसंधान एवं प्रशिक्षण जलवायु परिवर्तन के साथ-साथ डायरेक्टर छत्तीसगढ़ राज्य वन अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान बनाया गया है।

इसके अलावा पी.वी. नरसिंहराव को प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यप्राणी) की जिम्मेदारी सौंपी गई है। राजेश कुमार चंदेले DFO बैकुंठपुर को प्रधान मुख्य वन संरक्षक कार्यालय अरण्य भवन में पदस्थ किया गया है।

DFO मणिवासन केशकाल कोDFO धरमजयगढ़, ईमोतेषु आओ संचालक गुरू घासीदास राष्ट्रीय उद्यान बैकुंठपुर को DFO बैकुंठपुर बनाया गया है।

प्रियंका पांडेय DFO धरमजयगढ़ को उपवन संरक्षक कार्यालय पीसीसीएफ अरण्य भवन में पदस्थ किया गया है।
DFO बलरामपुर प्रणय मिश्रा को प्रधान मुख्य वन संरक्षक कार्यालय अरण्य भवन में पदस्थ किया गया है।

गणवीर धम्मशील को DFO केशकाल वन मंडल में पदस्थ किया गया है। इसके अलावा लक्ष्मण सिंह उपप्रबंधक वन संरक्षक अंबिकापुर को प्रभारी DFO बलरामपुर बनाया गया है।

बता दें कि हाथियों की लगातार मौत के बाद आधा दर्जन वन अफसरों पर गाज पहले ही गिर चुकी है।  बलरामपुर डीएफओ प्रणय मिश्रा को हटाते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किया । वही बलरामपुर में नए डीएफओ लक्ष्मण सिंह की पदस्थापना की । इसके अलावा एसडीओ भी निलंबित कर दिया।