युवा महोत्सव में दिखेगी छत्तीसगढ़ी संस्कृति की इंद्रधनुषी छटा

राजधानी में होगा तीन दिवसीय आयोजन

रायपुर | युवा शक्ति और राष्ट्रभक्ति के प्रेरणास्त्रोत स्वामी विवेकानंद की जयंती पर राजधानी रायपुर में युवा महोत्सव आयोजित किया जा रहा है। इस ‘युवा महोत्सव’ में छत्तीसगढ़ के युवाओं की प्रतिभा, कौशल, ऊर्जा और उत्साह का अदभुत संगम होगा। महोत्सव में युवा शक्ति की रचनात्मक प्रतिभा देखने को मिलेगी। युवा इस महोत्सव के जरिए जहां अपनी संस्कृति से जुड़ेगे। वहीं आपने पारंपरिक खेलों और विभिन्न विधाओं में जौहर भी दिखाएंगे। लोक संस्कृति और परम्परा की गहराईयों को आत्मसात कर पाएंगे। विविध संस्कृति वाले इस राज्य में महोत्सव के दौरान मिनी भारत की छटा लोगों को देखने को मिलेगी। साथ ही यहां छत्तीसगढ़ी कर्मा, नाचा, ददरिया, गम्मत, पंथी, राउत नाचा रहेंगे मुख्य आकर्षण।

तीन दिवसीय होगा आयोजन
स्वामी विवेकानंद की स्मृति हर युवा के मन में रहे और उनके आदर्शों से युवाओं को परिचित कराने के साथ ही उन्हें सांस्कृतिक सरोकारों से जोड़ने के लिए साईंस कालेज मैदान में 12 से 14 जनवरी तक आयोजित किए जा रहे युवा महोत्सव में छत्तीसगढ़ की माटी की महक लिए लोक नृत्यों और शास्त्रीय नृत्यों, लोक गीत -संगीत और शास्त्रीय गायन की प्रस्तुति दी जाएगी। छत्तीसगढ के पारंपरिक वाद्ययंत्रों के साथ बांसुरी, वीणा और सितार, मृदंगम और तबले, गिटार और हार्मोनियम की स्वर लहरियों के संगम ंसे एक मनमोहक समंा बनेगा। युवाओं के लिए अपनी गौरवशाली संस्कृति से जुड़ने का यह अनूठा अवसर होगा।

संस्कृति पर फोकस
इस आयोजन में भौंरा, कबड्डी, खोखो, फुगड़ी गेड़ी दौड, जैसे ग्रामीण अंचल के भुलाए जा रहे खेलों को नया जीवन मिलेगा। युवा उत्सव में 7 हजार से अधिक कलाकार इस आयोजन में शामिल होंगे। जिलों से आने वाले कलाकार अपने जिले की सांस्कृतिक विशेषताओं के अनुरूप विभिन्न लोक संस्कृतियों की झांकी प्रस्तुत करेंगे। वहीं परम्परागत खेलों में भी अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर युवाओं को मिलेगा। तीन दिनों तक चलने वाले इस आयोजन में शिल्पग्राम और राज्य के विकास झांकी भी दिखेगी। यहां राज्य के विभिन्न हिस्सों में प्रचलित छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का स्वाद भी मिलेगा।

युवा आकर्षण का रहेगा केंद्र
इस उत्सव में फरा, चीला, ठेठरी, खुर्मी, अइरसा जैसे अनेक छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का दिलकश स्वाद और सौध्ंाी खुशबू महोत्सव को नया रंग भरेगी। अनेक राज्यों की पारंपरिक वेशभूषा में सजे धजे युवा आकर्षण का केन्द्र रहेंगे। युवा महोत्सव में छत्तीसगढ़ के विभिन्न अंचलों की सतरंगी संस्कृति युवाओं के जोश, प्रतिभा और कौशल से जीवंत हो उठेगी।

मंत्री ने लिया युवा महोत्सव की तैयारियों का जायजा
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल आज रायपुर के साईस कालेज परिसर में राज्य स्तरीय युवा महोत्सव की तैयारियों का जायजा लेने पहुँचे । उन्होंने कार्यक्रम स्थल के सभी मंचों, सुरक्षा, परिवहन और भोजन व्यवस्था की भी जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों को महोत्सव की तैयारियों को समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिए। युवा महोत्सव की प्रतियोगिताएं साईंस कॉलेज मैदान के अलावा पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम, विज्ञान महाविद्यालय ऑडिटोरियम, पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय का प्रेक्षागृह एवं खेल मैदान में आयोजित होगी।