मुख्यमंत्री भूपेश ने धान को बारिश से बचाने कलेक्टरों को दिए सख्त निर्देश

क्षति का आंकलन कर प्रभावितों की करें सहायता-भूपेश

रायपुर | बेमौसम बारिश ने सरकार की चिंता की लकीर बढ़ा दी है। प्रदेश के कई जिलों में लगातार हो रहे बेमौसम बारिश से जहां किसान परेशान हैं तो वहीं भीगे हुए धान को लेकर सरकारी अमला भी काफी चिंतित है। यही कारण है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी जिला कलेक्टरों को धान को भीगने से बचाने के लिए सख्त लहजे में निर्देश दे दिया है।

पिछले एक-दो दिनों से प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हो रही बारिश से उपार्जन केन्द्रों में रखे धान को भीगने लगे हैं। जिसे बचाने के लिए समुचित इंतजाम करने के निर्देश सभी जिला कलेक्टरों को दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि धान को व्यवस्थित तरीके से तालपत्री से ढक कर रखा जाए और उपार्जन केन्द्रों में पानी निकासी के लिए समुचित ड्रेनेज की व्यवस्था रहे ताकि निचले हिस्से का धान खराब न होने पाए। मुख्यमंत्री ने खाद्य विभाग के अधिकारियों को उपार्जन केन्दों से धान की कस्टम मिलिंग में तेजी लाने के निर्देश भी दिए है।

उल्लेखनीय है कि धान को सुरक्षित रखने के लिए इस वर्ष अभियान चलाकर धान उपार्जन केन्द्रों में 8 हजार चबूतरों का निर्माण कराया गया है। मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों को यह भी निर्देश दिए हैं कि बेमौसम बारिश से यदि कहीं कोई क्षति होती है तो उसका शीघ्र आंकलन कर प्रभावितों को राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रावधानों के तहत आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाए।

संबंधित पोस्ट

ब्रेकिंग-निजी अस्पताल में लगी आग में 4 लोगों की हुई मौत

राज्यपाल ने ली कोरोना संक्रमण पर वर्चुअल सर्वदलीय बैठक,सभी दल हुए शामिल

भारतरत्न डाॅ.भीमराव अम्बेडकर की मनाई गई 130 वीं जयंती

हवाई यात्रा से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों को दिखाना होगा कोरोना निगेटिव रिपोर्ट

Video:न्याय योजना पर भाजपा ने तरेरी आंखे,कौशिक ने सरकार को कहा किसान विरोधी

स्कूल बंद के आदेश जारी,कक्षा 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाएं होंगी ऑफलाइन

रेडियोवार्ता लोकवाणी की 16वीं कड़ी में मुख्यमंत्री बघेल ने की नारी शक्ति पर चर्चा

Video:मुख्यमंत्री कन्या विवाह समारोह में शामिल हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

Cabinet:भूपेश मंत्रिमंडल की बैठक में लिए गए हैं कई अहम निर्णय

बजट सत्र का तीसरा दिन:शराब बिक्री को लेकर विपक्ष ने सरकार को घेरा

बजट सत्र के दूसरे दिन छत्तीसगढ़ में बढ़ते अपराधों पर विपक्ष का हंगामा

छत्तीसगढ़ की पंचम विधानसभा का दशम सत्र हुआ शुरू,बजट सत्र 26 मार्च तक चलेगा