CM बने शिक्षक,आंगनबाड़ी में ‘बच्चे सबसे अच्छे‘ लिखकर बच्चों का बढ़ाया हौसला

दुर्ग | मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज दुर्ग जिले के दौरे के दौरान पाटन विधानसभा क्षेत्र के आर-जामगांव में आंगनबाड़ी केन्द्र पहुंचकर निरीक्षण किया। उन्होंने इस दौरान वहां बच्चों से रू-ब-रू होते हुए आंगनबाड़ी केन्द्र के ब्लैक बोर्ड पर ‘बच्चे सबसे अच्छे‘ लिखकर उनका हौसला बढ़ाया। यह अवसर था वेदांता समूह के सहयोग से दुर्ग जिले के पाटन विधानसभा क्षेत्र में 101 आंगनबाड़ी केंद्रों के रेनोवेशन पश्चात् लोकार्पण का।

मुख्यमंत्री बघेल ने निरीक्षण के दौरान इस आंगन बाड़ी केन्द्र की तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि ऑडियो विजुअल की सुविधा वाले इस केंद्र में बच्चों को कल्पनाशीलता विकसित करने सहित खेल-खेल में सीखने में काफी मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर बच्चों से प्रश्न भी पूछे। आंगनबाड़ी की दीवारें पशु-पक्षियों के सुंदर तस्वीरों से सजी थी। मुख्यमंत्री एक-एक कर इनके बारे में पूछते रहे और बच्चे उत्साह से जवाब देते रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आंगनबाड़ी वह पहली जगह होती है, जहां घर से परे बच्चे पहली बार देर तक रुकते हैं और विभिन्न क्रियाकलापों तथा गतिविधियों से भली-भांति ढंग से परिचित होते है। यह केन्द्र सुंदर हो, सुविधापूर्ण हो, मनोरंजक हो तो बच्चों को बहुत अच्छा लगता है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर बच्चों को गिफ्ट भी दिए।

उल्लेखनीय है कि लोकार्पित होने वाले केन्द्रों में ऑडियो विजुअल क्लास के लिए टीवी सेट आदि की व्यवस्था की गई है। हाइजिनिक किचन बनाया गया है। वाटर फिल्टर की सुविधा है। एक मॉडल आंगनबाड़ी के अनुकूल यहां बड़ा सुंदर माहौल बनाया गया है। इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी विपिन जैन ने बताया कि यहां की कार्यकर्ता मोहिनी म्हस्के और सहायिका देवेंद्री श्रीवास ने सुपोषण को लेकर बहुत अच्छा काम किया है तथा अपने केंद्र को कुपोषण से मुक्त किया है। इस पर मुख्यमंत्री ने दोनों का सम्मान भी किया। इस मौके पर संभागायुक्त टीसी महावर, आईजी विवेकानंद सिन्हा, कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे, एसपी प्रशांत ठाकुर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

शेयर
प्रकाशित
Swaroop Bhattacharya

This website uses cookies.