कोरोना संक्रमित रोगी की पहचान और फेक न्यूज वायरल करने वालों पर अपराध दर्ज़

अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना सिविल लाईन में अपराध दर्ज

रायपुर। वर्तमान में देश और विश्व में कारोना वायरस फैला हुआ है। राज्य शासन ने दि एपीडेमिक डिस्जिस एक्ट 1897 की धारा -2 में दिये गये अधिकारों का उपयोग करते हुए नागरिकों को इस वायरस जनित रोगों से बचने के लिए दिशा-निर्देश एवं आदेश जारी किया गया है। जिसके तहत लोगों को भीड़भाड वाले इलाकों में न जाने, भीड़ एकत्रित न करने, व्यक्तिगत साफसफाई पर ध्यान देने कहा गया है साथ ही यह आदेशित किया गया है कि अगर वे रोग के चपेट में आते है या रोग का लक्षण उनमें दिखता है तो वे भीड़ में नहीं जायेगें, घर के भीतर रहेंगे।

जल्द से जल्द अपने को इस रोग से परीक्षण केन्द्रों तक जाकर परीक्षण करावें। साथ ही अपने के लोगों से अलग करके रखेंगे साथ ही राज्य शासन का आदेश है कि किसी भी चिन्हित रोगी का पहचान जाहिर न किया जावे साथ ही भ्रामक समाचार सोशल मीडिया में प्रसारित करने से भी मना किया गया है। रायपुर में दिनांक 18.03.2020 को एक कोरोना वायरस का रोगी चिन्हित हुआ है। इसकी जानकारी होेने पर अज्ञात व्यक्ति द्वारा उक्त चिन्हित रोगी का फोटो सोशल मीडिया में उसकी पहचान के साथ प्रसारित किया गया है, जो राज्य शासन के जारी किये गये आदेश का उल्लघ्ंान है।

अज्ञात आरोपी का यह कृत्य धारा 3 महामारी अधिनियम एवं धारा 188 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया है। रायपुर पुलिस द्वारा आम जनता से अपील की जाती है कि इस महामारी के संबंध में किसी भी प्रकार की भ्रामक/अपुष्ट जानकारी सोशल मीडिया या अन्य माध्यमों से प्रसारित न करें तथा साथ ही इसके संबंध में अधिक से अधिक लोगों को सही जानकारी दे।