जाली दस्तावेज, 92 शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

बलरामपुर | उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में 92 सरकारी शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इन लोगों ने कथित तौर पर नौकरी पाने के लिए जाली शैक्षणिक दस्तावेज का इस्तेमाल किया था।

बलरामपुर के कोतवाली पुलिस स्टेशन में इन शिक्षकों के खिलाफ बेईमानी और जाली दस्तावेज का उपयोग करके धोखाधड़ी करने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (यूपीएसटीएफ) द्वारा जांच के दौरान इस धोखाधड़ी का पता चला था।

सर्कल अधिकारी वरुण मिश्रा ने कहा कि एफआईआर बेसिक शिक्षा अधिकारी रामचंद्र की एक शिकायत के आधार पर दर्ज की गई थी और ये शिक्षक जिले में 2010 से कामFIR against 92 teachers over fake documents कर रहे हैं।

मिश्रा ने कहा, “उन्होंने उन अभ्यर्थियों की मार्कशीट का उपयोग किया, जो योग्य थे और अन्य जिलों में काम कर रहे थे।”

बता दें कि पिछले साल यूपीएसटीएफ ने अनामिका शुक्ला को गिरफ्तार किया था, जिसका नाम 25 स्कूलों में शिक्षिका के तौर पर दर्ज था और उसने 10 महीनों में 1 करोड़ रुपये वेतन लिया था।

जांच में पता चला कि जिस अनामिका शुक्ला के दस्तावेजों का 25 जगह इस्तेमाल किया गया था, असलियत में वो बेरोजगार थी।

–आईएएनएस

संबंधित पोस्ट

एफआईआर के खिलाफ थरूर, सरदेसाई और अन्य ने सुप्रीम कोर्ट रूख किया

सुप्रीम कोर्ट ने एफआईआर दर्ज करने संबंधी याचिका पर विचार से किया इनकार

जब पति निकला समलैंगिक, पत्नी ने उठाया यह कदम

FIR दर्ज कराया तो पति ने गर्लफ्रेन्ड के साथ मिल कर दी पिटाई  

महासमुंद: पटवारी के घर से फर्जी सील के साथ किसान किताब बरामद,निलंबित, FIR

धोखाधड़ी कर अयोध्या राम मंदिर ट्रस्ट के खाते से 6 लाख पार, FIR

रामदेव के खिलाफ एफआईआर मामले में दिल्ली पुलिस से कार्रवाई रिपोर्ट तलब

कोरोनिल दवा मामले में रामदेव-बालकृष्ण समेत, 3 अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज

शिवराज के एडिटेड वीडियो साझा करने पर दिग्विजय के खिलाफ एफआईआर दर्ज

किरायेदार छात्रों से मांगा भाड़ा, एफआईआर

सरकारी नौकरी की तलाश में है ? तो इंतज़ार कर रही है 5 विभागों की नौकरी

ESIC Recruitment 2018 : एसएसओ के पदों पर आप भी कर सकते है नौकरी